Police wait cryptically in matters instead of swift action which causes fight among parties quite obvious from procrastination of Gopiganj police





 संदर्भ संख्या : 60000230115506 , दिनांक - 06 Jul 2023 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-60000230115506

आवेदक का नाम-Yogi M. P. Singh

विषय-An application under Article 51A of the constitution of India to make enquiry in regard to the following representation made before the district magistrate Bhadohi by the aggrieved applicant which copy was sent to the applicant with request to help in the matter. To Station house officer police station Gopiganj district sant Ravidas Nagar Bhadohi Short submissions of the applicant before the SHO Gopiganj is as follows. 1-Whether the following matter is in the cognizance of the Gopiganj police. 2-According to the representation of the aggrieved applicant the local police is saying that impugned land belongs to the grabbers. How the concerned police reach on this conclusion? 3-Why the Gopiganj police is not advising the land grabbers that they may take shelter to the tehsil administration for the appropriate order instead of taking law in their own hand. The following representation has been submitted by the aggrieved applicant before the district magistrate sant Ravidas Nagar Bhadohi. It would be a rule of law if the law takes its own course in the matter instead of promoting the land grabbers to take the possession of the house and breaking it without any permission of the court or competent authority. सेवा में श्री मान जिलाधिकारी महोदय जनपद भदोही (उ. प्र.) | विषय हमारा घर गिरा कर हमें मरना पीटना और गाली गालाँझ जान से मारने की धमकी देने के सम्बन्ध में । महोदय 1. राजा राम पुत्र रामप्यारे बिन्द मैं प्रार्थिनी सीता देवी पत्नी शिव नाथ बिन्द, ग्रामसभा भरतपुर, पोस्ट बड़ागाँव (जंगीगंज) थाना गोपीगंज, तहसील ज्ञानपुर जनपद भदोही की मूल निवासी हूँ । श्रीमान जी हमारा अर्ध निर्माण मकान को श्री मौजीलाल पुत्र स्व मिश्रीलाल बिन्द व् धर्मराज पुत्र मौजीलाल लाल मणि जिलाजीत व अन्य लोगो के साथ आ कर हमारा मकान गिरा दिए और सब सामग्री उठा ले गए, हमें जब पता चला तो हमने रोकने की कोशिश की तो जान से मरने की धमकी देते है और कट्टा दिखाते है और माँ बहन की गली देते है, और कह रहे है की यह खंडहर था, और यह अब हमारा है। जबकि मेरा पक्का मकान लगभग 10 वर्ष से बना था, आज ये लोग विवाद करके मेरा पक्का मकान गिरा दिए और सब सामग्री उठा भी ले गए। रकबा 4-65 नगर में स्थित मकान महोदय आप से विनम्र निवेदन है की इन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने की कृपा, जिससे हमको न्याय मिल सके और सभी सामग्री दिलाने की कृपा करें जिससे मै पुनः मकान बना सकू आपका मै जीवन भर आभारी रहूंगा । दिनांक 8 June 23 प्रार्थिनी सीता देवी पत्नी शिव नाथ बिन्द राजा राम पुत्र रामप्यार ग्रामसभा भरतपुर, पोस्ट बड़ागांव थाना गोपीगंज, जनपद भदोही । मो. 7558470090

विभाग -पुलिसशिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-05-07-2023शिकायत की स्थिति-

स्तर -जनपद स्तरपद -वरिष्ठ /पुलिस अधीक्षक

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक को फीडबैक:-

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अधीनस्थ द्वारा प्राप्त आख्या :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी अग्रसारित दिनांक आदेश आख्या देने वाले अधिकारी आख्या दिनांक आख्या स्थिति आपत्ति देखे संलगनक

1 अंतरित लोक शिकायत अनुभाग -3(, मुख्यमंत्री कार्यालय ) 20-06-2023 कृपया शीघ्र नियमानुसार कार्यवाही किये जाने की अपेक्षा की गई है। वरिष्ठ /पुलिस अधीक्षक-भदोही,पुलिस 01-07-2023 अनुमोदित निस्तारित

2 आख्या वरिष्ठ /पुलिस अधीक्षक (पुलिस ) 20-06-2023 आवश्यक कार्यवाही करने का कष्ट करें एवं आख्या प्रेषित करें क्षेत्राधिकारी / सहायक पुलिस आयुक्त-ज्ञानपुर,जनपद-भदोही 01-07-2023 आख्या श्रेणी - वाद-न्यायालय में विचाराधीन है / स्थगित है

जांच आख्या सादर अवलोकनार्थ प्रेषित है । निस्तारित

3 आख्या क्षेत्राधिकारी / सहायक पुलिस आयुक्त (पुलिस ) 20-06-2023 आवश्यक कार्यवाही करने का कष्ट करें एवं आख्या प्रेषित करें थानाध्‍यक्ष/प्रभारी नि‍रीक्षक-गोपी गंज,जनपद-भदोही,पुलिस 25-06-2023 रिपोर्ट सादर सेवा में प्रेषित है निस्तारित

To see the attached document to the grievance, click on the link

Beerbhadra Singh

To write blogs and applications for the deprived sections who can not raise their voices to stop their human rights violations by corrupt bureaucrats and executives.

Post a Comment

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

Previous Post Next Post