Wednesday, January 4, 2023

B.D.O. Chhanbey again submitted the report which is showing huge difference in fund provided by government for cowsheds and spent on it


Funds provided for cowsheds by Yogi government has been siphoned on the large scale quite obvious from used funds and provided funds
 

संदर्भ संख्या : 40019922028149, दिनांक - 04 Jan 2023 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-40019922028149

आवेदक का नाम-Yogi M P Singhविषय-Rs.14.07 Lakh spent on construction of temporary cowsheds in financial year 2018-19 and Rs.1973452 spent to upkeep cows in 2019-20. , श्रीमान जी खंड विकास अधिकारी छानवे जनपद मिर्जापुर प्रार्थी को 33.8 लाख रुपए का हिसाब दे जो उनके द्वारा वित्तीय वर्ष 2018-19 और वित्तीय वर्ष 2,019-20 में खर्च किया गया है। श्रीमान जी जो खर्च खंड विकास अधिकारी छानवे जनपद मिर्जापुर द्वारा उपलब्ध कराया गया है वह उपरोक्त धनराशि का आधा भी नहीं है अर्थात जो खर्च नहीं दिखाया गया है वह पूरा का पूरा धन बंदरबांट कर दिया गया यदि खर्च ही नहीं किए हैं तो दिखाएंगे कहां से महत्वपूर्ण प्रश्न तो यह है आवेदनकर्ता का विवरण शिकायत संख्या -60000220195729 आवेदक का नाम-Yogi M. P. Singhविषय-The matter concerns the working of the chief veterinary officer Mirzapur and Block Development Officer Chhanbey, District-Mirzapur and information made available by the Block Development Officer Chhanbey attached to this grievance. Rs.14.07 Lakh was spent on the construction of temporary cowsheds in the financial year 2018-19 and Rs.1973452 was spent to upkeep cows in the financial year 2019-20. In village panchayat, Rasauli, development block-Chhanbey, district-Mirzapur, the financial year 2018-19, a temporary cowshed was made. The Funds spent on the material-5.88 Lakh and on labourers Rs. 1.19 Lakh in the form of wages and others. In village panchayat, Nibi Gaharwar, development block-Chhanbey, district-Mirzapur, the financial year 2018-19, a temporary cowshed was made. The Funds spent on the material-5.30 Lakh and on labourers Rs. 1.70 Lakh in the form of wages and others. In village panchayat, Rasauli, development block-Chhanbey, district-Mirzapur, the financial year 2019-20, no temporary cowshed was made. The Funds spent on the material-Rs.0 and on labourers Rs. 766554 in the form of wages and others. In village panchayat, Nibi Gaharwar, development block-Chhanbey, district-Mirzapur, the financial year 2019-20, no temporary cowshed was made. The Funds spent on the material-Rs.0 and on labourers Rs. 1206898 in the form of wages and others. Here a matter of fact is if a cow shed has not been constructed, then where has gone this huge fund provided by the government of Uttar Pradesh in the financial year 2019-20 to chief veterinary officer Mirzapur and Block Development Officer Chhanbey, District-Mirzapur? श्रीमान जी प्रार्थी गणित का परास्नातक का छात्र रहा है और खुद स्नातक के छात्रों को गणित और भौतिक विज्ञान पढ़ाई करता था अभी 2 साल हुए ही विश्राम लिए श्रीमान जी मुख्य चिकित्सा अधिकारी को इस तरह से प्रार्थी को भ्रमित नहीं करना चाहिए इस समय जो रिपोर्ट लगी है उसमें जो ब्यौरा दिया गया है और पूर्व में जन सूचना अधिकार 2005 के तहत उपलब्ध कराई गई सूचना में बहुत बड़ा अंतर है अर्थात सरकारी धन का बहुत बड़े स्तर पर बंदरबांट किया गया है जो किसी भी तरह से उचित नहीं है श्रीमान जी जो भी अधिकारी और कर्मचारी सरकार के इन आंख्या का परीक्षण करते हैं वह खुद ही समझ सकते हैं कि जो भी विषय वस्तु प्रस्तुत किया गया है वह खुद ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा उपलब्ध कराए गए दस्तावेजों के आधार पर है और ऐसे में खुद मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा स्पष्टीकरण के नाम पर बेबुनियाद आख्या प्रस्तुत करना कहां तक उचित है इसमें सिर्फ भ्रष्टाचार की झलक दिखाई पड़ती है और यह भी स्पष्ट है कि योगी सरकार और केंद्र की मोदी सरकार ईमानदारी का नाटक कर रही है अन्यथा इस तरह का असंगत और भ्रष्टाचार पूर्ण आख्या मुख्य चिकित्सा अधिकारी ना लगाते

विभाग -ग्राम्‍य विकास विभागशिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-03-01-2023शिकायत की स्थिति-

स्तर -विकास खण्ड स्तरपद -खण्‍ड वि‍कास अधि‍कारी

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक को फीडबैक:-

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अधीनस्थ द्वारा प्राप्त आख्या :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी अग्रसारित दिनांक आदेश आख्या देने वाले अधिकारी आख्या दिनांक आख्या स्थिति आपत्ति देखे संलगनक

1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 19-12-2022 खण्‍ड वि‍कास अधि‍कारी-छानवे,जनपद-मिर्ज़ापुर,ग्राम्‍य विकास विभाग 02-01-2023 आख्या श्रेणी - प्रकरण मांग श्रेणी का है

jach adhikari ki jach report preshit hai. निस्तारित

All the PDF Documents attached to the grievance are the communications of B.D.O. Chhanbey itself. To see the documents, click on this link