How much ridiculous, State Bank of India has made aggrieved Sudarshan Maurya third party and escaping from accountability

 



Grievance Status for registration number : DEABD/E/2022/43249

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Sudarshan Maurya
Date of Receipt
10/06/2022
Received By Ministry/Department
Financial Services (Banking Division)
Grievance Description
Financial Services (Banking Division) >> Government sponsored Schemes Related >> Prime Minister Rojgar Yojana

Bank : State Bank of India
Branch / Name of Bank and Branch : Main branch of S.B.I. District Mirzapur
Date of Application : 21-05-2022
-----------------------
Grievance Status for registration number : DEABD/E/2022/38292 Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M. P. SinghDate of Receipt 21/05/2022 Received By Ministry/Department Financial Services (Banking Division)From SBI LHO LUCKNOW on 06/06/2022 approved Report remarks-Complainant has made multiple complaints and appeals regarding the same issue on this portal. He is seeking information regarding loan accounts of our customer Sh. Sudarshan Maurya. WE have already advised him in his previous complaints that we cannot make any third party disclosures regarding our customers account. The same has been advised to him again. We recommend closing the complaint.
श्री मान जी वैसे तो कोई भी अपने प्रतिनिधि के माध्यम से अपना प्रत्यावेदन दे सकता है और वही कार्य प्रार्थी द्वारा किया गया है किन्तु आप को स्वीकार्य नहीं है जैसा की आप द्वारा उपरोक्त टिप्पड़ी द्वारा श्री योगी एम्. पी सिंह द्वारा प्रस्तुत प्रार्थी के व्यथा और अपील गहरी नाराजगी ब्यक्त की गयी है श्री उपरोक्त शिकायत registration number : DEABD/E/2022/38292  का विवरण संलग्नको सहित प्रार्थी के आवेदन /व्यथा के साथ संलग्न है और प्रार्थी द्वारा इस बात का अनुरोध है की एक उच्चाधिकार प्राप्त टीम मामले की जांच करे जिससे सत्य सामने आये तथा प्रार्थी के खाते से अबैध कटा पैसा प्रार्थी के खाते में रिफंड हो अब प्रार्थी तो आप के लिए थर्ड पार्टी नहीं है यह मामला प्रधान मंत्री रोजगार योजना के कार्यान्वयन में सार्वजनिक प्राधिकरण स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कामकाज में गहरे भ्रष्टाचार से संबंधित है, जो हमारे महान प्रधान मंत्री नरेंद्र दामोदर मोदी की अध्यक्षता में संचालित योजना है और  प्रधान मंत्री कार्यालय का एक महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है। यहां आवेदक सुदर्शन मौर्य अर्थात प्रार्थी  ने भारत सरकार की प्रधान मंत्री रोजगार योजना के तहत पैसा उधार लिया और भारतीय स्टेट बैंक से ऋण लेने के बाद उन्हें विभाग में भ्रष्टाचार के कारण भारतीय स्टेट बैंक के कर्मचारियों द्वारा किए गए कई अनियमितताओं  का सामना करना पड़ा। प्रार्थी सुदर्शन मौर्य ने भारतीय स्टेट बैंक के कामकाज में अनियमितताओं के खिलाफ कई अभ्यावेदन श्री योगी एम्. पी सिंह के माध्यम से प्रस्तुत किए,
Grievance Document
Current Status
Case closed   
Date of Action
13/06/2022
Remarks
From SBI LHO LUCKNOW on 13/06/2022 approved Yogi M P Singh actual Complainant has made multiple complaints and appeals regarding the same issue on this portal. He is seeking information regarding loan accounts of our customer Sh. Sudarshan Maurya. W have already advised him in his previous complaints that we cannot make any third party disclosures regarding our customers account. The same has been advised to him again. We recommend to close the complaint.
Reply Document
Rating
Poor
Rating Remarks
प्रार्थी द्वारा इस बात का अनुरोध है की एक उच्चाधिकार प्राप्त टीम मामले की जांच करे जिससे सत्य सामने आये तथा प्रार्थी के खाते से अबैध कटा पैसा प्रार्थी के खाते में रिफंड हो अब प्रार्थी तो आप के लिए थर्ड पार्टी नहीं है यह मामला प्रधान मंत्री रोजगार योजना के कार्यान्वयन में सार्वजनिक प्राधिकरण स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कामकाज में गहरे भ्रष्टाचार से संबंधित है, जो हमारे महान प्रधान मंत्री नरेंद्र दामोदर मोदी की अध्यक्षता में संचालित योजना है और प्रधान मंत्री कार्यालय का एक महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है। यहां आवेदक सुदर्शन मौर्य अर्थात प्रार्थी ने भारत सरकार की प्रधान मंत्री रोजगार योजना के तहत पैसा उधार लिया और भारतीय स्टेट बैंक से ऋण लेने के बाद उन्हें विभाग में भ्रष्टाचार के कारण भारतीय स्टेट बैंक के कर्मचारियों द्वारा किए गए कई अनियमितताओं का सामना करना पड़ा। प्रार्थी सुदर्शन मौर्य ने भारतीय स्टेट बैंक के कामकाज में अनियमितताओं के खिलाफ कई अभ्यावेदन श्री योगी एम्. पी सिंह के माध्यम से प्रस्तुत किए,
Appeal Details
Appeal Number
DEABD/E/A/22/0010490
Date of Receipt
16/06/2022
Appeal Text
Grievance Status for registration number : DEABD/E/2022/43249 Grievance Concerns To Name Of Complainant Sudarshan Maurya Date of Receipt 10/06/2022 Received By Ministry/Department Financial Services (Banking Division) Grievance Description Financial Services (Banking Division) Government sponsored Schemes Related Prime Minister Rojgar Yojana श्री मान जी अब प्रार्थी सुदर्शन मौर्या पुत्र बृजलाल मौर्या है पता सोहता अड्डा , जंगी रोड जिला मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश अर्थात प्रार्थी खुद ही भारतीय स्टेट बैंक के भ्र्ष्टाचार से पीड़ित है और संलग्नक खुद उसकी हैंड राइटिंग में है महोदय मुख्य ब्रांच की महिला स्टाफ ने केस के सन्दर्भ में बात की किन्तु प्रार्थी के लिए जो आख्या प्रस्तुत की गयी है वह चौकाने वाला है श्री मान जी प्रार्थी किस आधार पर थर्ड पार्टी है उसे परिभाषित करे अब तो धीरे धीरे खुद ही आपके पलायनवादी दृष्टिकोण से स्पस्ट हो चुका आप के स्टाफ द्वारा प्रार्थी को ५०००० रूपये का चुना लगाया गया है आप लोगो द्वारा भ्र्ष्टाचार की समस्त सीमाओं का अतिक्रमण किया गया श्री मन आप को किसी प्रकार की शंका है तो आप प्रार्थी से कन्फर्म करे किन्तु आप द्वारा प्रार्थी को थर्ड पार्टी कहना किसी तरह से उचित नहीं है आपके भ्र्ष्टाचार से प्रार्थी को ५०००० हजार का घाटा हुआ है जिसके छतिपूर्ति उन भ्र्ष्ट कर्मचारिओं के तनख्वाह से होना चाहिए श्री मान जी आप लोगो को अपने भ्रष्ट कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही के बजाय मामले से पलायन करना विभाग में आराजकता का सूचक है खुद सोचिये आज इस भष्टाचार के कारण आपके मुख्य ब्रांच के कर्मचारी नजर मिलाने की हिम्मत नहीं कर रहे है कृपया टीम गठित करके मामले का अन्वेषण करे और भारतीय स्टेट बैंक की शाख जो रसातल में पहुंच चुका है उसको उठाने का प्रयास करे
Current Status
Appeal Received
Officer Concerns To
Officer Name
SMT USHA GAUTAM (General Manager)
Organisation name
State Bank of India
Contact Address
Corporate Centre, Customer Service Deptt. State Bank Bhawan, 16th Floor, Madam Cama Road, Mumbai
Email Address
gm.customer@sbi.co.in
Contact Number
02222740430
Reminder(s) / Clarification(s)
Reminder Date
Remarks
10/06/2022
लेकिन आप लोगो ने  तीसरे पक्ष के नाम पर उन अभ्यावेदन को खारिज कर दिया क्योंकि श्री मान  योगी एम पी सिंह के माध्यम से जो की एक मानवाधिकार रक्षक और कमजोर वर्ग के लिए काम करते है प्रत्यावेदन  किया था। यह बिल्कुल स्पष्ट है कि आवेदक प्रार्थी सुदर्शन मौर्य ने जवाबदेह सार्वजनिक पदाधिकारियों के समक्ष लिखित शपथ पत्र प्रस्तुत किया  किन्तु कोई कार्यवाही करना ही नहीं चाहता है हे प्रभु कृपया इस गरीब पर रहम करे अन्यथा बीबी बच्चे भूखो मर जाएंगे श्री मान जी प्रश्नगत प्रकरण गहरे भ्रष्टाचार से संबंधित है और हमारे महान प्रधान मंत्री नरेंद्र दामोदर मोदी जी ईमानदार है फिर भी आवेदनों को मनमाने तरीके से निस्तारित किया जा रहा है जो आपत्तिजनक है श्री मान जी एक ईमानदार और धर्मनिष्ठ प्रधान मंत्री के समय में यह आराजकता क्यों  मंत्री रोजगार योजना महान प्रधान मंत्री नरेंद्र दामोदर मोदी द्वारा शुरू की गयी है
Previous Post Next Post