Municipality prepared estimates of Rs.3228285 for interlocking road on 05.09.2022 but in one year they did nothing which is mirror of development

 



Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2022/65504

Grievance Concerns To

Name Of Complainant

Yogi M. P. Singh

Date of Receipt

22/08/2022

Received By Ministry/Department

Uttar Pradesh

Grievance Description

श्री मान जी जब ब्यथा विवरण में ऊपर ही लिखा है की The matter concerns municipality Mirzapur city and wide public interest.

Yet you are sending it to various other public authorities but not to municipality Mirzapur city reflecting deep rooted corruption and mismanagement.

Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2022/45676 Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M. P. Singh

Date of Receipt 23/06/2022 Received By Ministry/Department Uttar Pradesh

Current Status Case closed Date of Action 21/08/2022

Remarks अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित उक्त प्रकरण नगर पालिका परिषद मीरजापुर से सम्बन्धित है अतः लोक निर्माण विभाग द्वारा को कार्य अपेक्षित नहीं है

श्री मान जी जब ब्यथा विवरण में ऊपर ही लिखा है की The matter concerns municipality Mirzapur city and wide public interest. अर्थात मामला नगर पालिका मिर्जापुर शहर और व्यापक जनहित से जुड़ा है इसके बावजूद आप द्वारा शिकायत को कार्यालय उप परियोजना प्रबंधक उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम लिमिटेड को भेजा गया और उन्होंने अपने आख्या में यह कह कर की उक्त सेतु के सर्विस रोड निर्माण का कार्य लोक निर्माण विभाग / नगर पालिका परिषद् मिर्ज़ापुर से सम्बंधित है अर्थात आप द्वारा गलत जगह पर शिकायत को अग्रसारित किया गया

विस्तृत विवरण वास्ते संलग्नक देखे Whether repair of road can be overlooked in name of P.W.D. and municipality Mirzapur city consequently concerned may take action? क्या पीडब्ल्यूडी और नगर पालिका मिर्जापुर के नाम पर सड़क की मरम्मत की अनदेखी की जा सकती है? फलस्वरूप संबंधित को कार्रवाई करना चाहिए और अपनी भूल सुधारने के लिए प्रकरण को पीडब्ल्यूडी और नगर पालिका मिर्जापुर को भेजा जाय जो इस समय ब्रिज के नीचे सैकड़ो दुकानों से राजस्व लाभ कर रहा है

श्रीमान जी पूर्व में प्रकरण राज्य सेतु निगम को भेजा गया किंतु परिणाम शून्य रहा उसके पश्चात अब लोक निर्माण विभाग को भेजा गया है अर्थात पब्लिक वर्क डिपार्टमेंट श्रीमान जी यदि यही प्रकरण पब्लिक वर्क डिपार्टमेंट जोकि मिर्ज़ापुर नगर पालिका से संबंधित है उसमें भेजा गया होता तो कोई रचनात्मक रिजल्ट सामने आता है जैसे कि व्यथा में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि नगरपालिका मिर्जापुर शहर 100 दुकानों से राजस्व का लाभ ले रहा है किंतु विकास के नाम पर कुछ नहीं कर रहा है इसलिए प्रकरण मुख्य रूप से नगर पालिका मिर्जापुर शहर से संबंधित है यदि राजस्व का लाभ मिर्जापुर नगरपालिका शहर ले रहा है तो क्या सड़क जो 5 वर्षों से नहीं बनी है चारों तरफ कीचड़ है अब सेतु निगम और लोक निर्माण विभाग उत्तर प्रदेश बनाए गा कृपया उचित कार्यवाही करें जैसे जनता लाभान्वित हो अभी उठा रहे प्रकरण को चालाकी से उन विभागों को भेजा जा रहा है जो उससे संबंधित नहीं है क्योंकि प्रदेश सरकार कोई विकास करना ही नहीं चाहती है सिर्फ जनता को बेवकूफ बना रही है कुछ कर भी नहीं रहे हैं क्या यही विकास है दुकाने रखवाने में तो 24 घंटे भी नहीं लगे होंगे किंतु विकास के नाम पर 5 वर्षों तक कुछ नहीं किए कृपया कुछ करिए

It is quite obvious that when the concerned staff of the Government of Uttar Pradesh submits the report that the matter concerns the municipality Mirzapur City and its public work department then how can they consider the grievance disposed of? This is a cryptic and mysterious way to run away from the grievances of the common people in the state of Uttar Pradesh. This is a cunning trick of the staff who are monitoring the redress of the grievances at the Jansunwai portal of the government of Uttar Pradesh. More than one month passed since the date of complaint was made and they said that the matter does not concern the department concerned but the matter concerning the working of the municipality Mirzapur city. Where is the transparency and accountability in the working of public authority in Government of Uttar Pradesh who are playing games with the grievances of common people concerning the wide public interest who are creating lawlessness and anarchy in government machinery.

For the construction of the road damaged because of construction of Sangmohal over bridge by the government of Uttar Pradesh.

Grievance Document

Current Status

Case closed   

Date of Action

06/09/2022

Remarks

अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित श्रीमान जी की सेवा में विस्तृत आख्या सादर प्रेषित है

Reply Document

Rating

1

Poor

Rating Remarks

It is most unfortunate that near about one year passed but concerned did not take any step in the direction to construct interlocking and common people are making their cloths and shoes dirty including students as it is raining. Office of Municipal Council, Mirzapur public hearing reference 60000220143535 Executive Officer, Mirzapur. Kindly please refer to public hearing reference number 0-60000220143535, in which Shri Yogi M.P.Singh resident-Surekapuram Lakshminarayan Mandir Mirzapur has complained regarding the installation of interlocking. The estimate of the construction work of the road has been prepared Rs.3228285.00. Based on the availability of funds, the work will be done after approval from the competent authority. The above report is based on the inspection report given by Mr. Manoj Kumar Sonkar, Junior Engineer Mobile number-9129443406 on 05.09.2022. Therefore, please try to settle the complaint in the light of the above. city engineer Nagar Palika Parishad, Mirzapur

Appeal Details

Appeal Number

Date of Receipt

Appeal Text

Current Status

Officer Concerns To

Officer Name

Shri Bhaskar Pandey (Joint Secretary)

Organisation name

Government of Uttar Pradesh

Contact Address

Chief Minister Secretariat , Room No. 321, U.P. Secretariat, Lucknow

Email Address

bhaskar.12214@gov.in

Contact Number

05222226350

संदर्भ संख्या : 60000220143535 , दिनांक - 07 Aug 2023 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-60000220143535

आवेदक का नाम-Yogi M. P. Singhविषय-श्री मान जी जब ब्यथा विवरण में ऊपर ही लिखा है की The matter concerns municipality Mirzapur city and wide public interest. Yet you are sending it to various other public authorities but not to municipality Mirzapur city reflecting deep rooted corruption and mismanagement. Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2022/45676 Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M. P. Singh Date of Receipt 23/06/2022 Received By Ministry/Department Uttar Pradesh Current Status Case closed Date of Action 21/08/2022 Remarks अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित उक्त प्रकरण नगर पालिका परिषद मीरजापुर से सम्बन्धित है अतः लोक निर्माण विभाग द्वारा को कार्य अपेक्षित नहीं है श्री मान जी जब ब्यथा विवरण में ऊपर ही लिखा है की The matter concerns municipality Mirzapur city and wide public interest. अर्थात मामला नगर पालिका मिर्जापुर शहर और व्यापक जनहित से जुड़ा है इसके बावजूद आप द्वारा शिकायत को कार्यालय उप परियोजना प्रबंधक उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम लिमिटेड को भेजा गया और उन्होंने अपने आख्या में यह कह कर की उक्त सेतु के सर्विस रोड निर्माण का कार्य लोक निर्माण विभाग / नगर पालिका परिषद् मिर्ज़ापुर से सम्बंधित है अर्थात आप द्वारा गलत जगह पर शिकायत को अग्रसारित किया गया विस्तृत विवरण वास्ते संलग्नक देखे Whether repair of road can be overlooked in name of P.W.D. and municipality Mirzapur city consequently concerned may take action? क्या पीडब्ल्यूडी और नगर पालिका मिर्जापुर के नाम पर सड़क की मरम्मत की अनदेखी की जा सकती है? फलस्वरूप संबंधित को कार्रवाई करना चाहिए और अपनी भूल सुधारने के लिए प्रकरण को पीडब्ल्यूडी और नगर पालिका मिर्जापुर को भेजा जाय जो इस समय ब्रिज के नीचे सैकड़ो दुकानों से राजस्व लाभ कर रहा है श्रीमान जी पूर्व में प्रकरण राज्य सेतु निगम को भेजा गया किंतु परिणाम शून्य रहा उसके पश्चात अब लोक निर्माण विभाग को भेजा गया है अर्थात पब्लिक वर्क डिपार्टमेंट श्रीमान जी यदि यही प्रकरण पब्लिक वर्क डिपार्टमेंट जोकि मिर्ज़ापुर नगर पालिका से संबंधित है उसमें भेजा गया होता तो कोई रचनात्मक रिजल्ट सामने आता है जैसे कि व्यथा में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि नगरपालिका मिर्जापुर शहर 100 दुकानों से राजस्व का लाभ ले रहा है किंतु विकास के नाम पर कुछ नहीं कर रहा है इसलिए प्रकरण मुख्य रूप से नगर पालिका मिर्जापुर शहर से संबंधित है यदि राजस्व का लाभ मिर्जापुर नगरपालिका शहर ले रहा है तो क्या सड़क जो 5 वर्षों से नहीं बनी है चारों तरफ कीचड़ है अब सेतु निगम और लोक निर्माण विभाग उत्तर प्रदेश बनाए गा कृपया उचित कार्यवाही करें जैसे जनता लाभान्वित हो अभी उठा रहे प्रकरण को चालाकी से उन विभागों को भेजा जा रहा है जो उससे संबंधित नहीं है क्योंकि प्रदेश सरकार कोई विकास करना ही नहीं चाहती है सिर्फ जनता को बेवकूफ बना रही है कुछ कर भी नहीं रहे हैं क्या यही विकास है दुकाने रखवाने में तो 24 घंटे भी नहीं लगे होंगे किंतु विकास के नाम पर 5 वर्षों तक कुछ नहीं किए कृपया कुछ करिए It is quite obvious that when the concerned staff of the Government of Uttar Pradesh submits the report that the matter concerns the municipality Mirzapur City and its public work department then how can they consider the grievance disposed of? This is a cryptic and mysterious way to run away from the grievances of the common people in the state of Uttar Pradesh. This is a cunning trick of the staff who are monitoring the redress of the grievances at the Jansunwai portal of the government of Uttar Pradesh. More than one month passed since the date of complaint was made and they said that the matter does not concern the department concerned but the matter concerning the working of the municipality Mirzapur city. Where is the transparency and accountability in the working of public authority in Government of Uttar Pradesh who are playing games with the grievances of common people concerning the wide public interest who are creating lawlessness and anarchy in government machinery. For the construction of the road damaged because of construction of Sangmohal over bridge by the government of Uttar Pradesh.

विभाग -शिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-15-09-2022शिकायत की स्थिति-

स्तर -जनपद स्तरपद -जिलाधिकारी

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक को फीडबैक:-

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अधीनस्थ द्वारा प्राप्त आख्या :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी अग्रसारित दिनांक आदेश आख्या देने वाले अधिकारी आख्या दिनांक आख्या स्थिति आपत्ति देखे संलगनक

1 अंतरित लोक शिकायत अनुभाग -3(, मुख्यमंत्री कार्यालय ) 31-08-2022 कृपया शीघ्र नियमानुसार कार्यवाही किये जाने की अपेक्षा की गई है। जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर, 06-09-2022 अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित निक्षेपित

2 अंतरित जिलाधिकारी ( ) 31-08-2022 नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें अधिशासी अधि‍कारी,नगर पंचायत /पालिका -नगर पालिका परिषद 06-09-2022 आख्या श्रेणी - प्रकरण मांग श्रेणी का है

श्रीमान जी की सेवा में विस्तृत आख्या सादर प्रेषित है निस्तारित

Yogi

An anti-corruption crusader. Motive to build a strong society based on the principle of universal brotherhood. Human rights defender and RTI activist. Working for the betterment of societies and as an anti-corruption crusader for more than 25 years. Our sole motive is to raise the voices of weaker and downtrodden sections of the society and safeguard their human rights. Our motive is to promote the religion of universal brotherhood among the various castes communities of different religions. Man is great by his deeds and character.

Post a Comment

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

Previous Post Next Post