Tuesday, December 20, 2022

How aggrieved Dayanand Singh can pressurize Tehsildar Sadar to sign on the report of Tehsil Sadar submitted before U.P.P.C.L. for damages

 

Grievance Status for registration number : PMOPG/E/2022/0318076

Grievance Concerns To

Name Of Complainant

Dayanand Singh

Date of Receipt

30/11/2022

Received By Ministry/Department

Prime Ministers Office

Grievance Description

The matter concerns the working of the station officer police kotwali Vindhyachal, District-Mirzapur. Here it is noticeable that Executive Engineer EDD II Mirzapur in its communication dated-29 November 2022 suggested that subsequent action is expected on the part of police kotwali Vindhyachal, District-Mirzapur. It is quite obvious that when police kotwali Vindhyachal, District-Mirzapur refused to register F.I.R., on the false and flimsy ground. The applicant did E-F.I.R. in the matter as follows but it was rejected on the ground that the matter is excluded from the jurisdiction of the E-F.I.R., presently. The compensation is pending before the local office of the Uttar Pradesh Power Corporation Limited by taking the recourse of three points.1-Engineer EDD II Mirzapur seeking copy of the F.I.R. registered in the matter.2-Recommendation made by Tehsil Sadar did not contain the initial of the Tehsil Sadar.3-Copy of the Bank passbook of the victim of electrical accident Dayanand Singh son of Late Shobh Nath Singh, Village-Nibi Gaharwar, Post-Nibi Gaharwar, Tehsil-Sadar,  District-Mirzapur, PIN Code-231303Which is quite obvious from the attached PDF documents to the grievance. 

ई-एफ.आई.आर की स्थिति

क्र.सं.1, ई-एफ.आई.आर सं-169472/2022,  ई-एफ.आई.आर तिथि-23/11/2022, ई-एफ.आई.आर की स्थिति-Rejected from SCRB,  शिकायतकर्ता का नाम-Dayanand Singh, मोबाइल नंबर-9373315067Reason:- आपका प्रार्थना पत्र इन अपराधों में नही आता है। UPCOP मोबाइल एप में अज्ञात/गैर नामजद अभियुक्तो के खिलाफ प्रथम चरण में निम्न अपराधो में ही मुकदमा/एफ.आई.आर पंजीकृत किया जायेगा। 1. वाहन चोरी, 2. वाहन लूट, 3. मोबाइल छिनैती/लूट/समान्य चोरी, 4. नाबालिग बच्चों की गुमशुदगी, 5. साइबर अपराध । अतः आप घटना स्थल से संबधित थाने से सम्पर्क करे

श्रीमान जी प्रार्थी द्वारा दिनांक 17 नवंबर 2022 को प्रभारी निरीक्षक विंध्याचल कोतवाली जनपद मिर्जापुर को प्रार्थना पत्र प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करने वास्ते दिया गया है जिसकी प्रति संलग्न पीडीएफ दस्तावेज का प्रथम पेज है और संलग्न पीडीएफ दस्तावेज का द्वितीय प्रति अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड द्वितीय जनपद मिर्जापुर कि वह रिपोर्ट है जिसके अनुसार उन्होंने यह निर्देश दिया कि प्रार्थी के द्वारा मामले में प्रथम सूचना रिपोर्ट की की प्रति लगाई नही गई है उपरोक्त क्रम में प्रार्थी द्वारा थाना अध्यक्ष विंध्याचल कोतवाली से प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करने का प्रार्थना पत्र दिया गया किंतु थाना अध्यक्ष महोदय ने यह कहकर रिपोर्ट दर्ज करने से इंकार कर दिया कि प्रार्थी का गेहूं 2020 में जला है और प्रार्थी ने प्रार्थना पत्र में 2021 दर्शाया है श्रीमान जी अधिशासी अभियंता महोदय और हल्का लेखपाल की रिपोर्ट से यह स्पष्ट है कि प्रार्थी का गेहूं दिनांक 18 अप्रैल 2021 को जला है और प्रार्थी द्वारा प्रार्थना पत्र दिनांक 15 जून 2021 को दिया गया श्रीमान जी यह स्पष्ट है कि थाना प्रभारी कोतवाली विंध्याचल मामले में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करने में टालमटोल कर रहे हैं और प्रार्थी द्वारा आर्थिक क्षति जो विद्युत विभाग के शॉर्ट सर्किट होने से हुई है उसमें क्षतिपूर्ति होने में रुकावट पैदा कर रहे हैं जिससे उन्हें कोई लाभ नहीं है श्रीमान जी थाना प्रभारी को यह निर्देश दिया जाए कि वह प्रार्थी का प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कर लें जिससे प्रार्थी वह प्रथम सूचना रिपोर्ट अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड द्वितीय जनपद मिर्जापुर को प्रस्तुत कर सके और प्रार्थी को लेखपाल की रिपोर्ट के अनुसार क्षतिपूर्ति हासिल हो सके जो प्रार्थी का संवैधानिक हक है

Compensation for Victims of Electrical Accidents by UPPCL May 5, 2022 Govt. Initiative, Power, Schemes, Uttar Pradesh, Uttar Pradesh Power Corporation Limited UPPCL aims to give compensation for victims of Electrical accidents who are citizens of their state. HOW TO APPLY FOR COMPENSATION IF ELECTRICAL ACCIDENT OCCURRED WITH ANIMAL AND CROPS DESTROYED DUE TO ELECTRICAL FIRE ACCIDENT Login to dashboard, click on the second tab and fill all the mandatory details marked with Now attach the scanned copy of documents like Medical Certificate Post-Mortem Report, Proprietary Rights Certificate and Applicant’s Identity Card in JPEG/JPG/PDF format whose file size should not exceed 1 MB. Now click on the save button after filling all details correctly

Grievance Document

Current Status

Case closed

Date of Action

19/12/2022

Remarks

अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित pg portal complaint no 60000220220004 is disposed

Reply Document

Rating

1

Poor

Rating Remarks

श्रीमान जी प्रार्थी इतना मूर्ख नहीं है की प्रार्थी वह अनुरोध करेगा जो पहले से ही पूर्ण हो चुका है खोजें संलग्नको का परिशीलन किया जाए और देखा जाए कि संलग्नको मे कानूनगो और लेखपाल की रिपोर्ट लगी हुई है जो उनके द्वारा हस्ताक्षरित है और वह रिपोर्ट तहसील सदर मिर्जापुर द्वारा प्रेषित है ना कि प्रार्थी द्वारा श्रीमान जी जब तहसील सदर द्वारा रिपोर्ट प्रेषित की गई है तो उस रिपोर्ट में किसी भी तरह का शुद्धीकरण की कार्रवाई तहसील सदर ही कर सकता है ना कि प्रार्थी किंतु यह बात अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड द्वितीय को श्रीमान एके सिंह को कौन समझाए क्योंकि वह इतने मदांध हो चुके हैं कि किसी का कुछ सुनना ही नहीं चाहते हैं सिर्फ अपने ही सुनाते हैं जैसे उनकी सुग्राहिता ही खत्म हो चुकी है महोदय श्रीमान अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड द्वितीय को निर्देश दिया जाए कि वे प्रार्थी के ऊपर नियम विरुद्ध दबाव ना डालें कि प्रार्थी तहसीलदार सदर मिर्जापुर को निर्देशित करें कि तहसील द्वारा जो प्रस्तुत की गई आख्या है उस पर लेखपाल और कानूनगो का हस्ताक्षर है किंतु तहसीलदार का नहीं प्रार्थी तहसीलदार सदर से यह नहीं कह सकता उस रिपोर्ट पर हस्ताक्षर करें

Officer Concerns To

Officer Name

Shri Bhaskar Pandey (Joint Secretary)

Organisation name

Government of Uttar Pradesh

Contact Address

Chief Minister Secretariat , Room No. 321, U.P. Secretariat, Lucknow

Email Address

bhaskar.12214@gov.in

Contact Number

05222226350

संदर्भ संख्या : 40019922027912 , दिनांक - 20 Dec 2022 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-40019922027912

आवेदक का नाम-Yogi M P Singhविषय-आवेदनकर्ता का विवरण शिकायत संख्या -40019922027555 आवेदक का नाम-Yogi M P Singhविषय- Sir, Executive Engineer Power Distribution Division II AK Singh is complicating the case by giving a roundabout answer. The applicant only says that the Tehsildar Sadar has presented his report but the Executive Engineer Electricity Distribution Division II has found loopholes in it and is yet to compensate the victim. They are running away from providing the compensation to the victim, which is illegal, unjust, unconstitutional as far as the removal of objections are concerned, the objections which have been said to be removed in that report can be removed only by the person who has presented that report. The working style of the engineer is full of corruption and unconstitutional. Whatever he is saying is not according to the rules, He is saying for the new report but the report has already been prepared, only its shortcomings have to be removed and Dayanand Singh son of Shobh Nath Singh will not remove those shortcomings, Tehsildar Sadar and sab divisional Magistrate Sadar may remove the errors. Sir, if Tehsil Sadar has presented his report then only Tehsil Sadar will remove the shortcomings in it, but this simple thing is beyond the understanding of AK Singh, engineer of power distribution division second. A. K. Singh is not able to understand the simple fact that report belongs to tahsil Sadar so IT will be rectified by the tahsil Sadar. Truth is that he does not have the courage to talk properly because the wrong person always runs away from the right thing., Think that the crop worth of Rs 50000 was burnt to ashes. Uttar Pradesh Power Corporation Limited, due to whose lacunae crop has been burnt, is running away from giving compensation by creating baseless facts, is this called good governance, where rights of the people are only violated, which human rights are protected here? Nothing is visible except corruption. Today, the report which is in a hurry apparently shown by executive Engineer distribution division second, was pending in his office for more than 1 and half years. When the request was made by the applicant, Dayanand Singh then this deficiency was deliberately created by them. It is true that these people are running away from paying compensation, otherwise the assessment of damages has been done by Tehsil Sadar quite obvious from the attached document to the grievance. श्रीमान जी अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड द्वितीय एके सिंह प्रकरण को गोल मटोल जवाब देकर जटिल बना रहे हैं प्रार्थी का सिर्फ यह कहना है कि तहसीलदार सदर अपनी आख्या प्रस्तुत कर चुके हैं किंतु अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड द्वितीय उसमें कमियां निकाल कर पीड़ित को क्षतिपूर्ति देने से भाग रहे हैं जो कि अवैध है अन्याय पूर्ण है असंवैधानिक है और प्रश्न गत प्रकरण में उस रिपोर्ट में जिन कमियों को दूर करने की बात कही गई है वह वही व्यक्ति दूर कर सकता है जिसने उस रिपोर्ट उस आख्या को प्रस्तुत किया है यहां पर अधिशासी अभियंता की कार्यशैली भ्रष्टाचार पूर्ण है और असंवैधानिक है जो कुछ भी वह कह रहे हैं वह नियमानुसार नहीं है रही जहां बात वह कह रहे हैं कि रिपोर्ट तैयार कराने की तो रिपोर्ट तो पहले से ही तैयार है सिर्फ उसकी कमियों को दूर करना है और कमियां दूर करने का काम दयानंद सिंह पुत्र सोभनाथ सिंह नहीं करेंगे उन कमियों को दूर करेंगे तहसीलदार सदर और उप जिलाधिकारी सदर ना की दयानंद सिंह श्रीमान जी यदि तहसील सदर अपनी आंख्या प्रस्तुत किया है तो उसमें जो कमियां हैं उसको तहसील सदर ही तो दूर करेगा किंतु यह साधारण सी बात विद्युत वितरण खंड के अभियंता एके सिंह को समझ में नहीं आ रही है सच तो यह है

विभाग -विद्युतशिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-22-12-2022शिकायत की स्थिति-

स्तर -जनपद स्तरपद -अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक को फीडबैक:-

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अग्रसारित विवरण :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी अग्रसारित/आपत्ति दिनांक नियत दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश स्थिति

1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 15-12-2022 22-12-2022 अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत कार्यालय स्तर पर लंबित