Whether representations of Sudarshan Maurya will be treated as third party representation and will be overlooked by State Bank of India

 



Sudarshan Maurya submitted representation before S.B.I. for numerous charges levied on loan taken under P.M. employment scheme

Grievance Status for registration number : DEABD/E/2022/39396

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Sudarshan Maurya
Date of Receipt
26/05/2022
Received By Ministry/Department
Financial Services (Banking Division)
Grievance Description
Financial Services (Banking Division) >> Government sponsored Schemes Related >> Prime Minister Rojgar Yojana

Bank : State Bank of India
Branch / Name of Bank and Branch : Main branch of SBI District Mirzapur
Date of Application : 25-04-2022
-----------------------
Staff of state bank of India playing tricks to complicate the path of unemployed youth earning livelihood some
The handwritten affidavit of Sudarshan Maurya is attached as page one to attached PDF documents to the grievance. Whether concerned staff of State Bank of India are layman and incompetent to understand the submissions of the grievance.
Your applicant invites the kind attention of the Honourable Sir to the following submissions.

1-Problem of Sudarshan Maurya is attached as second and third pages of the attached grievance in his own handwriting which must be redressed through logistic approach.

2- Covid period March 2020, April 2020, May2020, June 2020, July 2020 and August 2020 has been charged Rs. 10028 from current credit account on 31 August 2020.

3- It is most surprising that a new account was opened in the name of Sudarshan Maurya without informing him of the aforementioned amount credited again to the current credit account of the Sudarshan Maurya. Honourable Sir may be pleased to take the perusal of the red highlighted portion of the page 4 of the attached document to the grievance.

4-Who is operating this account opened in the name of Sudarshan Maurya without his permission? All the concerned staff committed criminal offences by keeping the Sudarshan Maurya in dark.

5-Subsequently nine transactions made by the staff of the State Bank of India to withdraw money Rs. 10094 from the current credit account opened in the name of Sudarshan Maurya to this account are quite obvious from pages 4 to 10 of the attached PDF document.

6-No staff of State Bank of India is disclosing the ulterior motive of the Bank to open this account in the name of Sudarshan Maurya. There must be transparency and accountability in the dealings of the State Bank of India.

7-There are many other troubles being faced by the borrowers who have taken loans under the prime minister employment scheme for the unemployed youth. Which will be raised in the next grievances.
Grievance Document
Current Status
Case closed   
Date of Action
13/06/2022
Remarks
From SBI LHO LUCKNOW on 13/06/2022 approved Report remarks Yogi M P Singh actual Complainant has made multiple complaints and appeals regarding the same issue on this portal. He is seeking information regarding loan accounts of our customer Sh. Sudarshan Maurya. W have already advised him in his previous complaints that we cannot make any third party disclosures regarding our customers account. The same has been advised to him again. We recommend to close the complaint.
Reply Document
Rating
Poor
Rating Remarks
प्रार्थी द्वारा इस बात का अनुरोध है की एक उच्चाधिकार प्राप्त टीम मामले की जांच करे जिससे सत्य सामने आये तथा प्रार्थी के खाते से अबैध कटा पैसा प्रार्थी के खाते में रिफंड हो अब प्रार्थी तो आप के लिए थर्ड पार्टी नहीं है यह मामला प्रधान मंत्री रोजगार योजना के कार्यान्वयन में सार्वजनिक प्राधिकरण स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कामकाज में गहरे भ्रष्टाचार से संबंधित है, जो हमारे महान प्रधान मंत्री नरेंद्र दामोदर मोदी की अध्यक्षता में संचालित योजना है और प्रधान मंत्री कार्यालय का एक महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है। यहां आवेदक सुदर्शन मौर्य अर्थात प्रार्थी ने भारत सरकार की प्रधान मंत्री रोजगार योजना के तहत पैसा उधार लिया और भारतीय स्टेट बैंक से ऋण लेने के बाद उन्हें विभाग में भ्रष्टाचार के कारण भारतीय स्टेट बैंक के कर्मचारियों द्वारा किए गए कई अनियमितताओं का सामना करना पड़ा। प्रार्थी सुदर्शन मौर्य ने भारतीय स्टेट बैंक के कामकाज में अनियमितताओं के खिलाफ कई अभ्यावेदन श्री योगी एम्. पी सिंह के माध्यम से प्रस्तुत किए
Appeal Details
Appeal Number
DEABD/E/A/22/0010492
Date of Receipt
16/06/2022
Appeal Text
Grievance Status for registration number : DEABD/E/2022/39396 Grievance Concerns To Name Of Complainant Sudarshan Maurya Date of Receipt 26/05/2022 Received By Ministry/Department Financial Services (Banking Division) Grievance Description Financial Services (Banking Division) Government sponsored Schemes Related Prime Minister Rojgar Yojana Bank : State Bank of India Branch / Name of Bank and Branch : Main branch of SBI District Mirzapur श्री मान जी अब प्रार्थी सुदर्शन मौर्या पुत्र बृजलाल मौर्या है पता सोहता अड्डा , जंगी रोड जिला मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश अर्थात प्रार्थी खुद ही भारतीय स्टेट बैंक के भ्र्ष्टाचार से पीड़ित है और संलग्नक खुद उसकी हैंड राइटिंग में है महोदय मुख्य ब्रांच की महिला स्टाफ ने केस के सन्दर्भ में बात की किन्तु प्रार्थी के लिए जो आख्या प्रस्तुत की गयी है वह चौकाने वाला है श्री मान जी प्रार्थी किस आधार पर थर्ड पार्टी है उसे परिभाषित करे अब तो धीरे धीरे खुद ही आपके पलायनवादी दृष्टिकोण से स्पस्ट हो चुका आप के स्टाफ द्वारा प्रार्थी को ५०००० रूपये का चुना लगाया गया है आप लोगो द्वारा भ्र्ष्टाचार की समस्त सीमाओं का अतिक्रमण किया गया श्री मन आप को किसी प्रकार की शंका है तो आप प्रार्थी से कन्फर्म करे किन्तु आप द्वारा प्रार्थी को थर्ड पार्टी कहना किसी तरह से उचित नहीं है आपके भ्र्ष्टाचार से प्रार्थी को ५०००० हजार का घाटा हुआ है जिसके छतिपूर्ति उन भ्र्ष्ट कर्मचारिओं के तनख्वाह से होना चाहिए श्री मान जी आप लोगो को अपने भ्रष्ट कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही के बजाय मामले से पलायन करना विभाग में आराजकता का सूचक है खुद सोचिये आज इस भष्टाचार के कारण आपके मुख्य ब्रांच के कर्मचारी नजर मिलाने की हिम्मत नहीं कर रहे है कृपया टीम गठित करके मामले का अन्वेषण करे और भारतीय स्टेट बैंक की शाख जो रसातल में पहुंच चुका है उसको उठाने का प्रयास करे आवेदक प्रार्थी सुदर्शन मौर्य ने जवाबदेह सार्वजनिक पदाधिकारियों के समक्ष लिखित शपथ पत्र प्रस्तुत किया किन्तु कोई कार्यवाही करना ही नहीं चाहता है हे प्रभु कृपया इस गरीब पर रहम करे अन्यथा बीबी बच्चे भूखो मर जाएंगे श्री मान जी प्रश्नगत प्रकरण गहरे भ्रष्टाचार से संबंधित है और हमारे महान प्रधान मंत्री नरेंद्र दामोदर मोदी जी ईमानदार है
Current Status
Appeal Received
Officer Concerns To
Officer Name
SMT USHA GAUTAM (General Manager)
Organisation name
State Bank of India
Contact Address
Corporate Centre, Customer Service Deptt. State Bank Bhawan, 16th Floor, Madam Cama Road, Mumbai
Email Address
gm.customer@sbi.co.in
Contact Number
02222740430

1 Comments

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

  1. आप लोगो द्वारा भ्र्ष्टाचार की समस्त सीमाओं का अतिक्रमण किया गया श्री मन आप को किसी प्रकार की शंका है तो आप प्रार्थी से कन्फर्म करे किन्तु आप द्वारा प्रार्थी को थर्ड पार्टी कहना किसी तरह से उचित नहीं है आपके भ्र्ष्टाचार से प्रार्थी को ५०००० हजार का घाटा हुआ है जिसके छतिपूर्ति उन भ्र्ष्ट कर्मचारिओं के तनख्वाह से होना चाहिए श्री मान जी आप लोगो को अपने भ्रष्ट कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही के बजाय मामले से पलायन करना विभाग में आराजकता का सूचक है खुद सोचिये आज इस भष्टाचार के कारण आपके मुख्य ब्रांच के कर्मचारी नजर मिलाने की हिम्मत नहीं कर रहे है कृपया टीम गठित करके मामले का अन्वेषण करे

    ReplyDelete
Previous Post Next Post