High voltage current running over houses and complaints are being made repeatedly but executive engineer EDD II has shut their eyes and ears


 

Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2023/0042756

Grievance Concerns To

Name Of Complainant

Mahesh Pratap Singh alias Yogi M. P. Singh

Date of Receipt

04/07/2023

Received By Ministry/Department

Uttar Pradesh

Grievance Description

How can anyone be safe if the high voltage current flowing over the houses because of insensitivity of the accountable staff in the department?

The electric wire pulled from the top of the houses should be removed immediately, otherwise the department will be responsible for any casual accident. Vide attached document to the grievance showing the current situation which is inviting casualty because of open wires.

Nowadays the arbitrariness and tyranny is rampant in the working of the staff in the local office of the Purvanchal Vidyut vitran Nigam limited at district Mirzapur because of the corruption.

घरों के ऊपर से खींचे गए विद्युत तार को तुरंत हटाया जाए अन्यथा कोई भी आकस्मिक दुर्घटना हो सकती है उसके लिए जिम्मेदार विभाग होगा।

Sir, will the electricity department take the electric wire over the houses of the people, as it is being done forcefully, the labourers are working, if any accident happens, then who will be responsible, they are only worried about their bribe, not about the people.

महोदय क्या बिजली विभाग लोगों के घरों के ऊपर से बिजली का तार ले जाएगा जैसा कि जबरदस्ती किया जा रहा है मजदूर कार्य कर रहे हैं कोई दुर्घटना हो जाए तो कौन जिम्मेदार होगा इन्हें तो सिर्फ अपने घुस की चिंता है लोगों की कोई चिंता नहीं है

Everyone knows that their poles and wires are in such a dilapidated condition, the wires often break and fall on the ground, which sometimes causes huge casualties and the poles get rusted and get separated from the roots and hang with the help of wires.

सभी जानते हैं कि इनके पोल और तार कितनी जर्जर हालत में है तार अक्सर टूट कर जमीन पर गिरते हैं जिनसे कभी-कभी बहुत बड़ी कैजुअल्टी हो जाती है और खंभे जंग खाकर जड़ से अलग होकर तार के सहारे लटकते रहते हैं ।

संदर्भ संख्या : 40019923014262 , दिनांक - 03 Jul 2023 तक की स्थिति


आवेदनकर्ता का विवरण :शिकायत संख्या:-40019923014262, आवेदक का नाम-Yogi M. P. Singh


विषय-महोदय अभी 2 महीने पहले सुरेखा पुरम में एक नया पोल लगाया गया तार खींचा गया क्योंकि किसी घर के ऊपर से तार जा रहा था वह भी केबल वाला तार फिर भी गृह स्वामी ने उस तार को हटवाया सुरेखा पुरम में लक्ष्मी नारायण बैकुंठ महादेव मंदिर के ऊपर से तार जा रहा है वह भी खुला तार ऐसे में विभाग की जिम्मेदारी बनती है विभाग खुले तार को हटवाए क्योंकि यदि कोई दुर्घटना होती है तो उसके लिए विद्युत विभाग जिम्मेदार माना जाएगा क्योंकि बहुत से प्रत्यावेदन विभाग को दिए गए हैं हटाने के लिए सिर्फ घूसखोरी और भ्रष्टाचार के कारण नहीं हट रहा है क्यों 2 साल से जो टालमटोल हो रहा है उसको बंद करके खुले तार को केबल के द्वारा प्रतिस्थापित करें किंतु अभी तक विभाग द्वारा इस दिशा में कोई ठोस पहल नहीं किया गया जोकि अराजकता का द्योतक है श्रीमान जी यदि रिवैंप की आवश्यकता है तो 2 महीने पहले सुरेखा पुरम में पोल और तार बदलने के लिए रिवैंप का इंतजार क्यों नहीं किया गया जब रिवैंप का कार्य शुरू होता तो उस समय बदलते किंतु बाप बड़ा ना भैया सबसे बड़ा रुपैया महोदय उस समय तार को केबल से इसलिए नहीं बदला गया क्योंकि तार को मंदिर से हटाने के लिए ₹10000 की मांग किया गया था उसमें दो घर आते हैं मंदिर से ₹5000 तो मिल गया था उस समय लेकिन दूसरा घर अपने हिस्से का 5000 घुस देने से इनकार कर दिया और आप जानते हैं कि बिना रिश्वत कंप्लीट हुए आपके विभाग में परिंदा पर भी नहीं मारता आपके पूर्वर्ती कार्यपालक अभियंता से मैंने जांच की बात की किंतु वे महोदय रिवैंप में शुरू होने की की बात करते-करते यहां से चले गए जब जाने लगे तो आधे घंटे तक मुझसे शाम को बात किए अपनी झूठी ईमानदारी की गाथा रटते रहे लेकिन जब जाना था तो जाना ही था 40 मीटर खुला तार क्यों छोड़ा गया है इसकी जांच होनी चाहिए अन्यथा सिर्फ अराजकता के अलावा कुछ भी नहीं है विभाग में Here the question raised does concern to remove open wire but concerns with deep-rooted corruption, arbitrariness and tyranny in the working of the public authority Uttar Pradesh Power Corporation Limited. Since last year, in various communications, subordinates of executive engineer EDD II informed the applicant that as soon as revamp will commence, the open wire will be removed but right now newly posted executive engineer denied removing the 40 metres open wire which is not only illegal but against setup standards of dealings prescribed to staff.

Grievance Document

Current Status

Grievance received   

Date of Action

04/07/2023

Officer Concerns To

Forwarded to

Uttar Pradesh

Officer Name

Shri Bhaskar Pandey (Joint Secretary)

Organisation name

Uttar Pradesh

Contact Address

Chief Minister Secretariat , Room No. 321, U.P. Secretariat, Lucknow

Email Address

bhaskar.12214@gov.in

Contact Number

05222226350

Beerbhadra Singh

To write blogs and applications for the deprived sections who can not raise their voices to stop their human rights violations by corrupt bureaucrats and executives.

Post a Comment

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

Previous Post Next Post