Thursday, December 29, 2022

Matter concerning deep rooted corruption forwarded by office of president, office of sub divisional magistrate filed it without taking any action

 

संदर्भ संख्या : 40019922028115, दिनांक - 29 Dec 2022 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-40019922028115

आवेदक का नाम-Yogi M P Singhविषय-शिकायत संख्या -40019922027271 आवेदक का नाम-Yogi M P Singh Tahsildar sir, the applicant has made enquiry under Article 51A of the constitution of India which cannot be denied by any public authority in this country. The communication of chief revenue officer has been received in your office and you are procrastinating and that communication which is not only illegal but also promoting corruption in the working of the Tehsil Sadar. You do not provide information on this portal you only tell me regarding the communication made by chief revenue officer in the following communication. The matter concerns the deep rooted corruption prevailed in the working of the tahsil Sadar which is the root cause of public information officer of the public authority is running away from the matter on the flimsy ground. तहसीलदार ने सी आर ओ के पत्र पर कार्यवाही नहीं किया श्रीमान जी आप द्वारा 02 दिसंबर 2022 की आख्या में कुछ इस प्रकार उद्धृत किया गया है प्रार्थी योगी एमपी सिंह निवासी सुरेखा पुरम कॉलोनी बथुआ मिर्जापुर के द्वारा दिए गए प्रार्थना पत्र का अवलोकन किया गया प्रार्थी द्वारा किसी प्रश्न का स्पष्ट उल्लेख नहीं किया गया है जिससे आवेदन के प्रश्न का उत्तर दिया जा सके प्रश्न का उल्लेख न होने के कारण उत्तर देय नहीं है रिपोर्ट सेवा में प्रेषित श्रीमान जी मुख्य राजस्व अधिकारी जनपद मिर्जापुर जो कि राज्य सूचना अधिकारी भी है कलेक्ट्रेट के उन्होंने अपने पत्र दिनांक 11 अक्टूबर 2022 पत्रांक 1005 जोकि प्रस्तुत किए गए शिकायत के साथ संलग्न था उसमें स्पष्ट रूप से लिखा है कि उपर्युक्त आवेदन आपको स्थानांतरित किया जा रहा है क्योंकि मांगी गई सूचना आपके तहसील क्षेत्राधिकार में पढ़ती है अतः उपर्युक्त के परिप्रेक्ष्य में आपसे अपेक्षा की जाती है कि आयुक्त एवं सचिव राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश का सूचना प्रकोष्ठ लखनऊ के पत्र संख्या 170 दिनांक 29 सितंबर 2022 के साथ संलग्न योगी एमपी सिंह सुरेखा पुरम बैकुंठ महादेव मंदिर जबलपुर रोड जनपद मिर्जापुर के पत्र दिनांक 13 जुलाई 2022 में उल्लेखित बिंदु संख्या तीन के संबंध में उक्त अधिनियम के अंतर्गत आवेदक को समय अंतर्गत सूचना उपलब्ध कराना सुनिश्चित करे Tehsildar did not take action on the letter of CRO. Sir, you have quoted something like this in the report of 02 December 2022, the application given by the applicant Yogi MP Singh resident Surekha Puram Colony Bathua Mirzapur was observed by No question has been clearly mentioned so that the question of the application can be answered. Due to non-mention of the question, the answer is not payable. The report has been sent by the Chief Revenue Officer, District Mirzapur, who is also the State Information Officer of the Collectorate. In the letter dated October 11, 2022 letter number 1005 which was attached with the complaint submitted, it is clearly written that the above application is being transferred to you because the information sought comes in your tehsil jurisdiction, therefore in the context of the above you are expected to act accordingly. Further It is said that the information cell of Commissioner and Secretary Revenue Council, Uttar Pradesh, Lucknow, attached with the letter number 170 dated 29 September 2022, Yogi MP Singh Surekha Puram Baikunth Mahadev Temple Jabalpur Road In relation to the point number three mentioned in the letter dated July 13, 2022 of Mirzapur district, make sure to provide timely information to the applicant under the said Act.

विभाग -राजस्व एवं आपदा विभागशिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-01-01-2023शिकायत की स्थिति-

स्तर -तहसील स्तरपद -तहसीलदार

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक29-12-2022 को फीडबैक:-श्रीमान जी क्या मुख्य राजस्व अधिकारी ने प्रकरण को तहसीलदार सदर को इसलिए भेजा था कि तहसीलदार सदर प्रकरण में कोई कार्यवाही न करें। श्रीमान जी भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51 अ के अनुसार प्रार्थी का यह मूल कर्तव्य है कि प्रार्थी सरकारी विभागों में होने वाली गतिविधियों के बारे में पूछताछ कर सके। श्रीमान जी प्रार्थी द्वारा इस शिकायत के माध्यम से यह जानने का प्रयास किया गया है कि मुख्य राजस्व अधिकारी का वह पत्र जो तहसीलदार सदर को संबोधित था जिसकी कॉपी सूचनार्थ प्रार्थी को प्रेषित की गई थी वह किस अवस्था में है। श्रीमान जी इस शिकायत में प्रार्थी द्वारा किसी भी प्रकार की सूचना का निवेदन नहीं किया गया है और ना ही प्रार्थी तहसीलदार सदर से वह सूचना मांग रहा है जो प्रार्थी पहले ही सूचना अधिकार अधिनियम 2005 के तहत मांग चुका है। श्रीमान जी प्रार्थी सिर्फ यह जानना चाहता है कि तहसीलदार सदर ने मुख्य राजस्व अधिकारी के पत्र को कहां छुपा कर रख दिया है तहसीलदार सदर मुख्य राजस्व अधिकारी के पत्र से क्यों भाग रहे हैं स्पष्ट करें। यह तो तहसीलदार सदर का भ्रष्टाचार है कि वह मुख्य राजस्व अधिकारी के पत्र पर कुंडली मारकर बैठ गए हैं। Sir, did the Chief Revenue Officer send the matter to Tehsildar Sadar so that Tehsildar Sadar should not take any action in the matter. Sir, according to Article 51 A of the Indian Constitution, it is the basic duty of the applicant to inquire about the activities going on in the government departments. Through this complaint, an attempt has been made by the applicant to know that in what condition is the letter of the Chief Revenue Officer which was addressed to Tehsildar Sadar, whose copy was sent to the applicant for information. Sir, in this complaint, no information has been requested by the applicant, nor is the applicant seeking information from Tehsildar Sadar, which has already been sought by the applicant under the Right to Information Act, 2005. Sir, the applicant just wants to know that where Tehsildar Sadar has hidden the letter of the Chief Revenue Officer, explain why Tehsildar Sadar is running away from the letter of the Chief Revenue Officer? This is the corruption of Tehsildar Sadar that he has sat crossed legged on the letter of the Chief Revenue Officer.

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अधीनस्थ द्वारा प्राप्त आख्या :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी अग्रसारित दिनांक आदेश आख्या देने वाले अधिकारी आख्या दिनांक आख्या स्थिति आपत्ति देखे संलगनक

1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 17-12-2022 तहसीलदार-सदर,जनपद-मिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग 23-12-2022 आख्या श्रेणी - सूचना के अधिकार सम्बन्धी प्रकरण

आख्या अपलोड कर सेवा में सादर अग्रसारित है। निस्तारित

For supportive documents, click on the following link