Instead executing inheritance, concerned staff of Tehsil Phulpur overlooked representation of aggrieved because of corruption

 


Grievance Status for registration number : PMOPG/E/2022/0216441

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Yogi M P Singh
Date of Receipt
15/08/2022
Received By Ministry/Department
Prime Ministers Office
Grievance Description
दिवंगत शिव बहादुर सिंह के पुत्र प्रसान्त सिंह की ओर से भारत के संविधान के अनुच्छेद 51 ए के तहत पुत्र और पत्नी को पैतृक संपत्ति के उत्तराधिकार के संबंध में एक आवेदन। मामला ग्राम पंचायत के लेखपाल सरायजीत राय उर्फ ​​पुरे भावा , तहसील- फूलपुर, जिला-प्रयागराज का है. आदरणीय महोदय, मेरे पिता को स्वर्ग लोक में जाने की तारीख से 2 वर्ष से अधिक समय बीत चुका है, लेकिन यह सबसे दुर्भाग्य पूर्ण है कि स्वर्गीय पिता के नाम पर पैतृक संपत्ति अभी भी पुत्र प्रशांत सिंह और पत्नी विधवा उमा सिंह को हस्तांतरित नहीं हुई है, , जो कि स्पष्ट रूप राजस्व रिकार्ड से स्पष्ट है
Details of inheritors 1-Uma Singh W/O Shiv Bahadur Singh, 2-Prasant Singh S/O Shiv Bahadur Singh and annexures with this grievance in PDF form are as follows.
1-Death certificate of Shiv Bahadur Singh S/O Vijay Bahadur Singh 2-Aadhar card of Prasant Singh S/O Shiv Bahadur Singh 3-Aadhar card of Uma Singh W/O Shiv Bahadur Singh.
An application under Article 51 A of the constitution of India on behalf of Prasant Singh Son of Let Shiv Bahadur Singh regarding inheritance of the ancestral property to the son and the wife. The matter concerns Lekhpal of the village panchayat Saraijeet Ray Urf Pure Bhava, Tehsil- phoolpur, District- prayagraj. Respected Sir more than 2 years passed since the date when my father departed for the heavenly abode but it is most unfortunate that ancestral properties in the name of Late father are still not transferred to the sun Prashant Singh and wife widow Uma Singh quite obvious from the revenue records.
दिवंगत शिव बहादुर सिंह के पुत्र प्रसान्त सिंह की ओर से भारत के संविधान के अनुच्छेद 51 ए के तहत पुत्र और पत्नी को पैतृक संपत्ति के उत्तराधिकार के संबंध में एक आवेदन। मामला ग्राम पंचायत के लेखपाल सरायजीत राय उर्फ ​​पुरे भावा , तहसील- फूलपुर, जिला-प्रयागराज का है. आदरणीय महोदय, मेरे पिता को स्वर्गलोक में जाने की तारीख से 2 वर्ष से अधिक समय बीत चुका है, लेकिन यह सबसे दुर्भाग्यपूर्ण है कि स्वर्गीय पिता के नाम पर पैतृक संपत्ति अभी भी पुत्र प्रशांत सिंह और पत्नी विधवा उमा सिंह को हस्तांतरित नहीं हुई है, , जो कि स्पष्ट रूप राजस्व रिकॉर्ड से स्पष्ट है
Father of the applicant expired on 29 October 2019 whether it was not obligatory duty of the Lekhpal concerned to report the matter as Lekhpal is a low-level bureaucrat in Indian states. He is the representative of the government at the village level. Up to 1906 he was paid by the village itself but now he is a salaried government employee. He usually has two or more villages in his charge. The duties of lekhpal include conducting surveys, inspection of fields, recording crop data, revision of official maps of fields and other village lands and reports revision related to mutations, partitions. Collection of revenues. Collection of rents of government's rented places. He also reports the death of a person in a village to update data (like property mutation), crime and also helps police to make a roadmap for investigation in such cases if asked. In case of natural disaster, he makes reports and assists to provide relief. He is also required to assist in providing relief to agricultural distress and also in census operations. A Lekhpal reports to Kanoongo. So basically, he is viewed as the ears and eyes of the Collector at the village level.
Grievance Document
Current Status
Case closed
Date of Action
30/08/2022
Remarks
अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित see report
Reply Document
Rating
Poor
Rating Remarks
Details 1-Uma Singh 2-Prasant Singh 1-Death certificate of Shiv Bahadur Singh S/O Vijay Bahadur Singh 2-Aadhar card of Prasant Singh S/O Shiv Bahadur Singh 3-Aadhar card of Uma Singh W/O Shiv Bahadur Singh. उत्तराधिकारियों का विवरण 1-उमा सिंह पत्नी शिव बहादुर सिंह, 2-प्रशांत सिंह पुत्र शिव बहादुर सिंह और पीडीएफ फार्म में इस शिकायत के साथ अनुलग्न निम्नानुसार हैं। 1-शिव बहादुर सिंह पुत्र विजय बहादुर सिंह का मृत्यु प्रमाण पत्र 2-प्रशांत सिंह पुत्र शिव बहादुर सिंह का आधार कार्ड 3-उमा सिंह पत्नी शिव बहादुर सिंह का आधार कार्ड श्री मान कानूनगो महोदय का कहना था इस समय महगाई बढ़ गई है इस लिए हम लोगो का खर्चा भी बढ़ गया है इसलिए पुरानी दरे सब बढ़ गयी है कहने लगे पूरा खर्चा वर्चा ले आधार कार्ड और मृत्यु प्रमाण पत्र लेकर आइए फिर सोचेंगे मैंने कहा शिकायत के साथ जो आप जो दस्तावेज मांग रहे है संलग्न है तो उन्होंने ने झुँझला कर कहा लगता है तुम वरासत कराना चाहते हो अभी दो साल और टहलो और खर्चा के लिए हमारे व्हाट्स ऍप पर अकाउंट नंबर भेजे जिस फोन से बात कर रहे है उसी से जुड़ा मेरा व्हाट्स ऍप भी है
Officer Concerns To
Officer Name
Shri Bhaskar Pandey (Joint Secretary)
Organisation name
Government of Uttar Pradesh
Contact Address
Chief Minister Secretariat , Room No. 321, U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
bhaskar.12214@gov.in
Contact Number
05222226350

2 Comments

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

  1. उत्तराधिकारियों का विवरण 1-उमा सिंह पत्नी शिव बहादुर सिंह, 2-प्रशांत सिंह पुत्र शिव बहादुर सिंह और पीडीएफ फार्म में इस शिकायत के साथ अनुलग्न निम्नानुसार हैं। 1-शिव बहादुर सिंह पुत्र विजय बहादुर सिंह का मृत्यु प्रमाण पत्र 2-प्रशांत सिंह पुत्र शिव बहादुर सिंह का आधार कार्ड 3-उमा सिंह पत्नी शिव बहादुर सिंह का आधार कार्ड श्री मान कानूनगो महोदय का कहना था इस समय महगाई बढ़ गई है इस लिए हम लोगो का खर्चा भी बढ़ गया है इसलिए पुरानी दरे सब बढ़ गयी है कहने लगे पूरा खर्चा वर्चा ले आधार कार्ड और मृत्यु प्रमाण पत्र लेकर आइए फिर सोचेंगे मैंने कहा शिकायत के साथ जो आप जो दस्तावेज मांग रहे है संलग्न है तो उन्होंने ने झुँझला कर कहा लगता है तुम वरासत कराना चाहते हो अभी दो साल और टहलो और खर्चा के लिए हमारे व्हाट्स ऍप पर अकाउंट नंबर भेजे जिस फोन से बात कर रहे है उसी से जुड़ा मेरा व्हाट्स ऍप भी है

    ReplyDelete
  2. सोचिए हम लोग कितनी भयावह परिस्थितियों से गुजर रहे हैं कुछ भी सुचारू रूप से नहीं चल रहा है घूसखोरी रिश्वतखोरी बेईमानी भ्रष्टाचार शब्द क्या है हम कहते हैं सरकार इतनी अच्छी तनख्वाह देती है उसके बावजूद रिश्वतखोरी और रिश्वतखोरी ना सफल होने पर सिस्टम को डिस्टर्ब करना यह सब कब तक चलेगा अरे भगवान से तो डरो उसकी लाठी में दम है इस लोग को तो नहीं पर लोग को सुधारो

    ReplyDelete
Previous Post Next Post