Complainant sought copy of report dated 02/07/2022 submitted by police before U.P.H.R.C. Lucknow in complaint of Pritesh Kumar

 


SHRC, Uttar Pradesh

Case Details

Diary No 1328/IN/2022 Case / File No 1410/24/55/2022

Victim Name PRITESH KUMAR Registration Date 24/05/2022

Action List (Click on Action given in blue color to view details)

Action No. Action Authority Action Date  

2 Dismissed in Limini NA 18/08/2022

1 Action Taken Report Called for THE SUPERINTENDENT OF POLICE MIRZAPUR 01/06/2022

Expand All Action List

Action

Action : Dismissed in Limini(Action No 2)

Action Date 18/08/2022

Authority , NA

Procceeding

आयोग के आदेश दिनांकित 01.06.2022 के अनुपालन में पुलिस अधीक्षक, नगर/नोडल अधिकारी, मीरजापुर द्वारा अपने पत्र दिनांकित 02.07.2022 के माध्यम से अवगत कराया गया है कि सन्दर्भित प्रकरण की जांच क्षेत्राधिकारी, नगर एवं मुख्य चिकित्साधिकारी, मीरजापुर द्वारा नाामित वरिष्ठ चिकित्साधिकारी के माध्यम से संयुक्त रूप से करायी गयी है।

पत्रावली का परिशीलन किया गया तथा प्राप्त आख्या का अवलोकन किया गया। प्रस्तुत आख्या सन्तोष सनक है। अतः आयोग स्तर से किसी कार्यवाही की आवश्यकता वांछित प्रतीत नहीं होती है।

तद्नुसार, याचिका निस्तारित की जाती है।

Complaint

Diary No 1328/IN/2022 Section M-2

Language ENGLISH Mode BY INTERNET

Received Date 15/05/2022 Complaint Date 15/05/2022

Victim

Victim Name PRITESH KUMAR Gender Male

Religion Hindu Cast Scheduled Caste

Address MOHALLA DANGAHAR, PATHRAHIYA, MIRZAPUR CITY

District MIRZAPUR State UTTAR PRADESH   

Complainant

Name YOGI M. P. SINGH

Address MOHALLA SUREKAPURAM, SHREE LAKSHMI NARAYAN BAIKUNTH MAHADEV MANDIR

District MIRZAPUR State UTTAR PRADESH ( 231001 )

Incident

Incident Place GOVERNMENT WOMEN HOSPITAL Incident Date 16/04/2022

Incident Category ATROCITIES ON SC/ST/OBC

Incident District MIRZAPUR Incident State UTTAR PRADESH

Incident Details

Enter Registration Number NHRCM/R/E/22/00670

Name Yogi M P Singh

Received Date 23/08/2022

Public Authority National Human Rights Commission

Status REQUEST FORWARDED TO CPIO

Date of action 26/08/2022

Details of CPIO :- Name:-Mukesh Kumar (M-1 Section), Telephone Number:- 011-24663285, Email Id:- ar1.nhrc@nic.in

Nodal Officer Details :-

Telephone Number 24663285

Email Id ar1[dot]nhrc[at]nic[dot]in

Online RTI Request Form Details

RTI Request Details :-

   

RTI Request Registration number NHRCM/R/E/22/00670

Public Authority National Human Rights Commission

   

Personal Details of RTI Applicant:-

Name Yogi M P Singh

Gender Male

Address Surekapuram colony , Laxmi Narayan Baikunth Mahadev Mandir, Jabalpur Road, Mirzapur city

Country India

State Uttar Pradesh

Status Urban

Educational Status Literate

  Above Graduate

Phone Number Details not provided

Mobile Number +91-7379105911

Email-ID myogimpsingh[at]gmail[dot]com

Request Details :-

Citizenship Indian

Is the Requester Below Poverty Line ? No

(Description of Information sought (upto 500 characters)

Description of Information Sought

CPIO may provide a copy of the report dated 02/07/2022 submitted by police Mirzapur before U.P.H.R.C. Lucknow in compliance of order dated 01/06/2022. For more details vide attached document


Concerned CPIO Mukesh Kumar (M-1 Section)

Supporting document (only pdf upto 1 MB)

2 Comments

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

  1. हमें ऐसा नहीं प्रतीत होता है की राज्य ह्यूमन राइट्स कमीशन आवेदक को सूचना प्रदान करेगा क्योंकि यह बहुत बड़ा खेल है जो कुछ भी पुलिस कहती है वही संवैधानिक संस्थाएं मान लेती हैं अपने विवेक का तनिक भी इस्तेमाल नहीं करते और वह जानती हैं कि यदि रिपोर्ट उपलब्ध कराया जाएगा तो रिपोर्ट की खामियां जनता के भीतर जाएंगे इससे राज्य मानवाधिकार आयोग भी जनता के उपहास का पात्र बनेगा जो कि उसके नुमाइंदे कभी नहीं चाहेंगे

    ReplyDelete
  2. सोचिए पुलिस अधिकारी दलित पृतेश कुमार को उसकी ही शिकायत पर जो कि मानवाधिकार आयोग लखनऊ के समक्ष की गई पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी और चिकित्सा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मिलकर जांच किए और वह जांच मानवाधिकार आयोग के समक्ष तो प्रस्तुत की गई लेकिन पृतेश कुमार को नहीं दी जा रही है जबकि उसके लिए कई आवेदन जन सूचना अधिकार 2005 के तहत पृतेश कुमार द्वारा मिर्जापुर पुलिस को दिया गया किंतु मिर्जापुर पुलिस वह आख्या देने से भाग रही है इससे यह पता चलता है कि मिर्जापुर पुलिस और मानवाधिकार आयोग दोनों ही सच्चाई पृतेश कुमार तक नहीं पहुंचने देना चाहते

    ReplyDelete
Previous Post Next Post