Aggrieved with false report of C.O. city Prabhat Ray, 71 years old lady Shiv Kumari submitted feedback and govt. forwarded matter to S.P.

 


संदर्भ संख्या : 40019921028362 , दिनांक - 09 Jan 2022 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-40019921028362

आवेदक का नाम-Shiv Kumariविषय-महोदय श्री मान जी प्रार्थिनी किस आधार पर एक लड़के को जमीन रजिस्ट्री कर सकती है जब की प्रार्थिनी के चार लड़के है जिसमे उन सब का हिस्सा है प्रार्थिनी से जमीन की रजिस्ट्री विनोद द्वारा धोखे से कराई गई है सम्बंधित पुलिस विनोद व उनकी पत्नी के विरुद्ध धोखा धड़ी का मुक़दमा पंजीकृत किया जाय और मुझ ७ वर्ष की वृद्धा को न्याय दिलाये सोचे आज भी प्रार्थिनी कूड़ा बीन कर पेट की छुधा शांत कर रही है सेवा में पुलिस अधीक्षक जिला - मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश , पिन कोड -२३१००१ विषय -सम्बंधित पुलिस द्वारा विषय वस्तु के अनुसार शिकायत का निस्तारण न करने और मनमाना रिपोर्ट लगाने के सम्बन्ध में महोदय श्री मान जी प्रार्थिनी के शिकायतों का निस्तारण गुण दोष के आधार पर किया जाय जिससे प्रार्थिनी को न्याय मिले यह कहा का न्याय है की एक लड़का सारी प्रॉपर्टी धोखे से लेकर बैठ जाय और अब पुलिस कह रही है दोषी पुत्र और बहू द्वारा ढाई लाख प्रार्थिनी को देने की बात पूर्ण रूप से असत्य भ्रमित और गुमराह करने वाला है पुलिस वरिष्ठ अधिकारिओं को गुमराह कर रही है सोचे आज भी प्रार्थिनी कूड़ा बीन कर पेट की छुधा शांत कर रही है श्री मान जी मुझ वृद्धा को न्याय दिलाये और मेरे धोखेबाज पुत्र व बहू को दण्डित कराये सक्षम न्यायालय द्वारा जिसके लिए ईश्वर आप को प्रेरित करे श्री मान जी दो लाख पचास हजार रुपये यदि विपक्षी द्वारा दिया गया तो जैसा की पुलिस द्वारा दावा किया जा रहा है तो प्रार्थिनी आज भी कूड़ा बीन कर पेट की छुधा शांत कर रही है ऐसा क्यों है ७१ वर्ष की वृद्धा कूड़ा बीने नौ जवान बच्चे मजा मारे यही न्याय है और पुलिस झूठी रिपोर्ट लगा कर मामले को दफना दे यही हमारी सस्कृत है पुलिस क्या कह रही है महत्वपूर्ण है न की विपक्षी पुलिस को अपने जांच में क्या मिला स्पस्ट करे दिनांक -०२ /१२ /२०२१ प्रार्थिनी शिव कुमारी पति शिव शंकर Address- Mohalla- Bhaisahiya tola, Police station- Kotwali Katra, District-Mirzapur PIN code-231001

विभाग -पुलिसशिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-06-01-2022शिकायत की स्थिति-

स्तर -क्षेत्राधिकारी स्तरपद -क्षेत्राधिकारी / सहायक पुलिस आयुक्त

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक09-01-2022 को फीडबैक:-क्षेत्राधिकारी सहायक पुलिस आयुक्तक्षेत्राधिकारी , नगर ,जनपदमिर्ज़ापुर की आख्या पूर्ण रूप से चौकी इंचार्ज मंडी समिति के रिपोर्ट की नक़ल है और प्रार्थिनी लिखित रूप से पुलिस कप्तान को सम्बोधित पत्र में अनुरोध कर चुकी इस तरह की मनमानी आख्या पुलिस न लगाए महोदय क्षेत्राधिकारी सहायक पुलिस आयुक्तक्षेत्राधिकारी , नगर ,जनपदमिर्ज़ापुर की आख्या प्रस्तुत प्रतिवेदन के विषयवस्तु से मेल नहीं खाता अर्थात पूर्ण रूप से असंगत और झूठा है प्रार्थिनी किसी दबाव में कुछ नहीं की है पुलिस की कार्यशैली पक्षपातपूर्ण है जो शोषित और असहाय के विरुद्ध न्याय से वंचित करने वाली है पुलिस अधीक्षक महोदय क्षेत्राधिकारी सहायक पुलिस आयुक्तक्षेत्राधिकारी , नगर के समक्ष प्रार्थिनी से पूछ ताछ करे प्रार्थिनी पूरे होस में है पुलिस ही मनगढंत कहानी बना रही है प्रार्थिनी किसी के दबाव में प्रार्थना पत्र नहीं दी है श्री मान जी मुझ वृद्धा को न्याय दिलाये और मेरे धोखेबाज पुत्र व बहू को दण्डित कराये सक्षम न्यायालय द्वारा जिसके लिए ईश्वर आप को प्रेरित करे श्री मान जी दो लाख पचास हजार रुपये यदि विपक्षी द्वारा दिया गया तो जैसा की पुलिस द्वारा दावा किया जा रहा है तो प्रार्थिनी आज भी कूड़ा बीन कर पेट की छुधा शांत कर रही है ऐसा क्यों है ७१ वर्ष की वृद्धा कूड़ा बीने नौ जवान बच्चे मजा मारे यही न्याय है और पुलिस झूठी रिपोर्ट लगा कर मामले को दफना दे

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अग्रसारित विवरण :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी प्राप्त/आपत्ति दिनांक नियत दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश स्थिति

1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 07-12-2021 06-01-2022 क्षेत्राधिकारी / सहायक पुलिस आयुक्त-क्षेत्राधिकारी , नगर ,जनपद-मिर्ज़ापुर,पुलिस आख्या उच्च स्तर पर प्रेषित

2 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 09-01-2022 08-02-2022 वरिष्ठ /पुलिस अधीक्षक-मिर्ज़ापुर,पुलिस शिकायतकर्ता द्वारा असंतुष्ट फीडबैक प्राप्त होने पर उच्च अधिकारी को पुनः परीक्षण हेतु प्रेषित. अनमार्क

Beerbhadra Singh

To write blogs and applications for the deprived sections who can not raise their voices to stop their human rights violations by corrupt bureaucrats and executives.

1 Comments

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

  1. अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 09-01-2022 08-02-2022 वरिष्ठ /पुलिस अधीक्षक-मिर्ज़ापुर,पुलिस शिकायतकर्ता द्वारा असंतुष्ट फीडबैक प्राप्त होने पर उच्च अधिकारी को पुनः परीक्षण हेतु प्रेषित. अनमार्क
    क्षेत्राधिकारी सहायक पुलिस आयुक्तक्षेत्राधिकारी , नगर ,जनपदमिर्ज़ापुर की आख्या पूर्ण रूप से चौकी इंचार्ज मंडी समिति के रिपोर्ट की नक़ल है और प्रार्थिनी लिखित रूप से पुलिस कप्तान को सम्बोधित पत्र में अनुरोध कर चुकी इस तरह की मनमानी आख्या पुलिस न लगाए महोदय क्षेत्राधिकारी सहायक पुलिस आयुक्तक्षेत्राधिकारी , नगर ,जनपदमिर्ज़ापुर की आख्या प्रस्तुत प्रतिवेदन के विषयवस्तु से मेल नहीं खाता अर्थात पूर्ण रूप से असंगत और झूठा है प्रार्थिनी किसी दबाव में कुछ नहीं की है पुलिस की कार्यशैली पक्षपातपूर्ण है जो शोषित और असहाय के विरुद्ध न्याय से वंचित करने वाली है

    ReplyDelete
Previous Post Next Post