Why district magistrate running away from ordering enquiry in irregularities committed in installation and reinstallation of hand pumps



जनसुनवाई

समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश

सन्दर्भ संख्या:-  40019921030446

लाभार्थी का विवरण

नाम Yogi M P Singh पिता/पति का नाम

मोबइल नंबर(१) 7379105911 मोबइल नंबर(२)

आधार कार्ड न. ई-मेल myogimpsingh@gmail.com

पता Mohalla Surekapuram Jabalpur Road District Mirzapur

आवेदन पत्र का ब्यौरा

आवेदन पत्र का संक्षिप्त ब्यौरा According to Yogi Adityanath Sir, he will have zero tolerance for corruption but think about the gravity of the situation that such third grade work is being carried out under his regime because of corruption and accountable public functionaries have shut its ears and eyes. District magistrate Mirzapur, after rebore by Jalnigam, why did municipality Mirzapur city not take over the Hand Pump from Jalnigam to look after as required under the management of installation and reinstallation of Hand pumps? Answer is simple, because in the rebore of handpump, set up norms were overlooked. Because of corruption rampant in the departments of Government of Uttar Pradesh, no action could be taken against wrongdoers by fixing their accountability even when the D.M. Mirzapur was informed regarding the irregularity time and again. Most surprising three years passed but concerned are only procrastinating on the matter ipso facto. निस्संदेह अधिशासी अभियंतामिर्ज़ापुर,जल निगम द्वारा गैर जिम्मेदाराना आख्या प्रस्तुत की गई है श्री मान जी प्रस्तुत प्रकरण में इस बात का जिक्र है की किस तरह से जल निगम द्वारा कराया गया रीबोर विभाग में व्याप्त भ्र्ष्टाचार के कारण फ़ैल हो गया सोचने की रीबोर के ठीक कुछ दिनों बाद हैंड पंप का पानी आना बंद हो गया उसकी जाँच नगर पालिका मिर्ज़ापुर और खुद जल निगम द्वारा कराया गया और मैंने कहा की हैंडपंप का रीबोर फ़ैल है इसलिए सम्बंधित के विरुद्ध कार्यवाही होनी चाहिए किन्तु आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई इससे बड़ी आराजकता क्या होगी श्री मान जी छह वर्षो से चापाकल बिगड़ रहा है और रीबोर हो रहा है किन्तु पानी नहीं दे रहा है इससे बड़ी आराजकता क्या होगी यहां बोरिंग का प्रश्न नहीं है क्योकि फिर बोरिंग होगी और चार दिन बाद पानी देना बंद कर देगा और जब शिकायत होगी मनमानी और असंगत जवाब लगा कर जिला मजिस्ट्रेट जैसे अधिकारी शिकायत को बंद करा देते है यहां प्रश्न विश्वसनीयता की है किस ढंग से भरस्टाचार के कारण लोक ब्यवस्था की साख गिर रही है इस पर चिंतन करना आवश्यक है श्री मान जी रीबोर प्रकरण पूर्ण रूप से भ्र्ष्टाचार से पोषित उसकी जांच होनी चाहिए अन्यथा जन कल्याण से सम्बंधित फण्ड कुछ लोगो के जेब भरते रहेंगे

संदर्भ दिनांक 31-12-2021 पूर्व सन्दर्भ(यदि कोई है तो) 0,0

विभाग नगर विकास तथा नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन शिकायत श्रेणी जल निगम से संबंधित शिकायत

लाभार्थी का विवरण/शिकायत क्षेत्र का

शिकायत क्षेत्र का पता जिला- मिर्ज़ापुर

संदर्भ संख्या : 40019921030446 , दिनांक - 31 Dec 2021 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-40019921030446

आवेदक का नाम-Yogi M P Singhविषय-According to Yogi Adityanath Sir, he will have zero tolerance for corruption but think about the gravity of the situation that such third grade work is being carried out under his regime because of corruption and accountable public functionaries have shut its ears and eyes. District magistrate Mirzapur, after rebore by Jalnigam, why did municipality Mirzapur city not take over the Hand Pump from Jalnigam to look after as required under the management of installation and reinstallation of Hand pumps? Answer is simple, because in the rebore of handpump, set up norms were overlooked. Because of corruption rampant in the departments of Government of Uttar Pradesh, no action could be taken against wrongdoers by fixing their accountability even when the D.M. Mirzapur was informed regarding the irregularity time and again. Most surprising three years passed but concerned are only procrastinating on the matter ipso facto. निस्संदेह अधिशासी अभियंतामिर्ज़ापुर,जल निगम द्वारा गैर जिम्मेदाराना आख्या प्रस्तुत की गई है श्री मान जी प्रस्तुत प्रकरण में इस बात का जिक्र है की किस तरह से जल निगम द्वारा कराया गया रीबोर विभाग में व्याप्त भ्र्ष्टाचार के कारण फ़ैल हो गया सोचने की रीबोर के ठीक कुछ दिनों बाद हैंड पंप का पानी आना बंद हो गया उसकी जाँच नगर पालिका मिर्ज़ापुर और खुद जल निगम द्वारा कराया गया और मैंने कहा की हैंडपंप का रीबोर फ़ैल है इसलिए सम्बंधित के विरुद्ध कार्यवाही होनी चाहिए किन्तु आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई इससे बड़ी आराजकता क्या होगी श्री मान जी छह वर्षो से चापाकल बिगड़ रहा है और रीबोर हो रहा है किन्तु पानी नहीं दे रहा है इससे बड़ी आराजकता क्या होगी यहां बोरिंग का प्रश्न नहीं है क्योकि फिर बोरिंग होगी और चार दिन बाद पानी देना बंद कर देगा और जब शिकायत होगी मनमानी और असंगत जवाब लगा कर जिला मजिस्ट्रेट जैसे अधिकारी शिकायत को बंद करा देते है यहां प्रश्न विश्वसनीयता की है किस ढंग से भरस्टाचार के कारण लोक ब्यवस्था की साख गिर रही है इस पर चिंतन करना आवश्यक है श्री मान जी रीबोर प्रकरण पूर्ण रूप से भ्र्ष्टाचार से पोषित उसकी जांच होनी चाहिए अन्यथा जन कल्याण से सम्बंधित फण्ड कुछ लोगो के जेब भरते रहेंगे

Department -जल निगमComplaint Category -

नियोजित तारीख-15-01-2022शिकायत की स्थिति-

Level -जनपद स्तरPost -अधिशासी अभियंता

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक को फीडबैक:-

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अग्रसारित विवरण :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी प्राप्त/आपत्ति दिनांक नियत दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश स्थिति

1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 31-12-2021 15-01-2022 अधिशासी अभियंता-मिर्ज़ापुर,जल निगम अनमार्क

Beerbhadra Singh

To write blogs and applications for the deprived sections who can not raise their voices to stop their human rights violations by corrupt bureaucrats and executives.

Previous Post Next Post