Finally F.I.R. has been registered under section 135 for the theft of electricity after lengthy struggle, efforts by dept. of electricity Mirzapur

 


संदर्भ संख्या : 40019921016206 , दिनांक - 22 Sep 2021 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-40019921016206

आवेदक का नाम-Kamlesh Singhविषय-श्री मान अधिशाषी अभियंता महोदय विद्युत् वितरण खंड द्वितीय फतहा जिला-मिर्ज़ापुर आप की कर्तव्यनिष्ठा ईमानदारी और लोक सेवा में समर्पण उसी तरह फैल रही जिस तरह भगवान अंशुमाली की किरणे तिमिर साम्राज्य को ख़त्म कर देती है श्री मान जी आप को ज्ञात हो की प्रार्थी कई वर्षो से आप का उपभोक्ता है और आप लोगो का आशीर्वाद प्रार्थी पर बना हुआ है जिससे प्रार्थी अपने बच्चो का भरण पोषण करने में सक्षम है श्री मान अब प्रार्थी अपनी ब्यथा की ओर आ रहा है श्री मान जी अब आप इस बात पर विचार करे की एक बैध विद्युत् कनेक्शन धारक हो और दूसरा अबैध कनेक्शन जोड़ कर आटा चक्की चलाये अर्थात व्यवसाय करे सोचिये समाज में क्या सिग्नल जाएगा प्रार्थी बिल नहीं जमा कर पा रहा है क्योकि अबैध कनेक्शन धारक कम पैसा लेकर ही पानी दे देगा कोई किसान मुझसे पानी क्यों भरवाएगा अबैध कनेक्शन धारक -दिलीप सिंह पुत्र रघुवर दयाल सिंह ग्राम कोठरा कंतित पोस्ट श्री निवास धाम विकास खंड छानवें हरगढ़ फीडर जिला मिर्ज़ापुर श्री मान जी प्रार्थी द्वारा कई बार अवर अभियंता हरगढ़ पावर हाउस के समक्ष गिड़गिड़ाया किन्तु कल की बात करके टाल देते है किन्तु यह कल कभी आता ही नहीं है आप के लाइनमैन श्री राकेश सिंह जी से बात किये किन्तु प्रयास सकारात्मक नहीं रहा उनके आश्वासन को पिछले छह महीने से ढो रहा हूँ जो मात्र दिलाशा के कुछ नहीं है है महोदय आप की ईमानदारी के चर्चे इतने सुन रखे है की आप से शिकायत करने में भय लगता है कही आप नियमानुसार कार्यवाही करने लगे तो जनाब बिजली चोरी में नप जाएगे जब की प्रार्थी ज्यादा कुछ नहीं सिर्फ उनका कनेक्शन बिच्छेद चाहता है इसके अलावा उपरोक्त महाशय आटा चक्की चलाना ही चाहते है तो नियमानुसार व्यवसायिक कनेक्शन ले ले प्रार्थी को खुशी होगी क्योकि इससे सरकारी खजाने को लाभ होगा इस कोरोना काल में क्योकि की सरकार खुद आर्थिक संकट से जूझ रही है Please provide the reason of not taking action against illegal connection holder operating Aataa chakki. Provide detail regarding action in regard to theft at the Hargarh power station. महोदय आप प्रकरण सतर्कता पुलिस मिर्ज़ापुर को मत सौंपियेगा क्योकि उनकी व्यस्तता बहुत ज्यादा है वे लोग पहुंच नहीं पाएंगे और प्रार्थी की स्थित अवर अभियंता हरगढ़ पावर हाउस और लाइनमैन श्री राकेश सिंह जी के समक्ष गिड़गिड़ाने जैसी होगी श्री मान जी यह लालच ही है जो व्यक्ति से गलत कराती है अब आप ही सोचे मै छह महीने स्थानीय स्तर पर प्रयासोपरांत अब आप की शरण में हूँ और आप ही हमारी अंतिम आशा है वैसे भी अबैध कनेक्शन से विभाग को ज्यादा लाभ होता नहीं होता है इसलिए आप प्रार्थी के विनम्रतापूर्ण विनती को दृष्टिगत रखते हुए विवेकपूर्ण निर्णय लेंगे जिसके लिए प्रार्थी श्री मान जी का सदैव आभारी रहेगा श्री मान जी व्यक्ति जन्म से नहीं कर्म से महान बनता है बिजली रोकने में ही विभाग हित और राष्ट्र हित दोनों है इसलिए रचनात्मक चरणबद्ध तरीके से सकारात्मक कदम उठाये जो श्री मान जी के गरिमा में चार चाँद लगाए हे ईश्वर मदद करे

विभाग -विद्युतशिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-19-09-2021शिकायत की स्थिति-

स्तर -जनपद स्तरपद -अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक15-09-2021 को फीडबैक:-शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया की विभाग द्वारा दिए गये समाधान से असंतुष्ट है ,

फीडबैक की स्थिति -जिलाधिकारी द्वारा संतोषजनक में परिवर्तित

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अधीनस्थ द्वारा प्राप्त आख्या :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश/आपत्ति दिनांक आदेश/आपत्ति आख्या देने वाले अधिकारी आख्या दिनांक आख्या स्थिति संलगनक

1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 20-08-2021 अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत 08-09-2021 सन्दर्भ संख्या 40019921016206 का आख्या पोर्तल पर अपलोद किया गया है. निस्तारित

संदर्भ संख्या : 40019921016458 , दिनांक - 22 Sep 2021 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-40019921016458

आवेदक का नाम-Kamlesh Singhविषय-श्री मान जी यदि आप के पास जनसूचना अधिकार  के तहत मांगे  गए आर. टी. आई. रिक्वेस्ट आप तक  तक न पहुंचा हो तो इस शिकायत  साथ संलग्न है क्योकि कोई भी अधिकारी जनसूचना अधिकार के तहत योगी सरकार  में सूचना देने  से भाग  रहा है महोदय विद्युत् चोरी से सम्बंधित प्रकरण को विभाग लापरवाही से कैसे  ले सकता है या कुछ लीपापोती का प्रयास है महोदय आप को ज्ञात हो की चोरी  बहुत बड़े स्केल पर हो रही है और इस चोरी का सूत्रधार कौन है किसी से छुपा नहीं है यही कारण है हाथी दांत  की तरह दिखाने के कुछ और खाने के कुछ चोरी की शिकायत को इतनी लापरवाही से लिया जाता  है की जैसे हर चोरी वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान  में है नारा विद्युत् चोरी की सूचना दो इनाम घर  ले जाओ यहां तो चोरी की सूचना पर बड़े अधिकारिओं को जैसे विच्छू डंक मार देता है वे ऐसा चुप्पी साधते है जैसे विश्व युद्ध छिड़ गया हो श्री मान आप  लोगो को सरकार खुद इतनी अच्छी तनख्वाह देती  है की आप हर कार्य कर सकते है किन्तु जो लालच रुपी राक्षस है व पता  नहीं क्या कराएगा कभी उन लोगो  बारे में सोचिये जिनके पास बेरोजगारी और  भोजन नहीं है उनकी क्या हालत है आज इस कोरोना काल में भुखमरी और बेरोजगारी पूरे समाज को अपना निवाला बनाने को बेकरार है  वही पर कुछ ऐसे निर्लज्ज है जिनको किसी  की परवाह नहीं सिर्फ अपने जेब भरने  अलावा उन्हें कुछ सूझता नही  है सोचिये प्रार्थी सिर्फ इतना  चाहता है की अबैध मोटर बंद हो उसमे सरकार का हित  किन्तु नौकरशाही में कोई उत्साह नहीं है क्यों सभी इसका जवाब जानते  किन्तु बोलने  साहस  नहीं है सोचिये शिकायत  भी दिया गया गया  और  सूचना भी मांगी  गयी किन्तु कोई कार्यवाही नहीं संलग्नको का परिशीलन करे संदर्भ संख्या : 40019921016206 , दिनांक - 24 Aug 2021 तक की स्थिति आवेदनकर्ता का विवरण : शिकायत संख्या:-40019921016206 आवेदक का नाम-Kamlesh Singhक्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी प्राप्त/आपत्ति दिनांक नियत दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश स्थिति1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 20-08-2021 19-09-2021 अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत कार्यालय स्तर पर लंबितआवेदक का नाम-Kamlesh Singhविषय-श्री मान अधिशाषी अभियंता महोदय विद्युत् वितरण खंड द्वितीय फतहा जिला-मिर्ज़ापुर आप की कर्तव्यनिष्ठा ईमानदारी और लोक सेवा में समर्पण उसी तरह फैल रही जिस तरह भगवान अंशुमाली की किरणे तिमिर साम्राज्य को ख़त्म कर देती है श्री मान जी आप को ज्ञात हो की प्रार्थी कई वर्षो से आप का उपभोक्ता है और आप लोगो का आशीर्वाद प्रार्थी पर बना हुआ है जिससे प्रार्थी अपने बच्चो का भरण पोषण करने में सक्षम है श्री मान अब प्रार्थी अपनी ब्यथा की ओर आ रहा है श्री मान जी अब आप इस बात पर विचार करे की एक बैध विद्युत् कनेक्शन धारक हो और दूसरा अबैध कनेक्शन जोड़ कर आटा चक्की चलाये अर्थात व्यवसाय करे सोचिये समाज में क्या सिग्नल जाएगा प्रार्थी बिल नहीं जमा कर पा रहा है क्योकि अबैध कनेक्शन धारक कम पैसा लेकर ही पानी दे देगा कोई किसान मुझसे पानी क्यों भरवाएगा अबैध कनेक्शन धारक -दिलीप सिंह पुत्र रघुवर दयाल सिंह ग्राम कोठरा कंतित पोस्ट श्री निवास धाम विकास खंड छानवें हरगढ़ फीडर जिला मिर्ज़ापुर श्री मान जी प्रार्थी द्वारा कई बार अवर अभियंता हरगढ़ पावर हाउस के समक्ष गिड़गिड़ाया किन्तु कल की बात करके टाल देते है किन्तु यह कल कभी आता ही नहीं है आप के लाइनमैन श्री राकेश सिंह जी से बात किये किन्तु प्रयास सकारात्मक नहीं रहा उनके आश्वासन को पिछले छह महीने से ढो रहा हूँ जो मात्र दिलाशा के कुछ नहीं है है महोदय आप की ईमानदारी के चर्चे इतने सुन रखे है की आप से शिकायत करने में भय लगता है कही आप नियमानुसार कार्यवाही करने लगे तो जनाब बिजली चोरी में नप जाएगे जब की प्रार्थी ज्यादा कुछ नहीं सिर्फ उनका कनेक्शन बिच्छेद चाहता है इसके अलावा उपरोक्त महाशय आटा चक्की चलाना ही चाहते है तो नियमानुसार व्यवसायिक कनेक्शन ले ले प्रार्थी को खुशी होगी क्योकि इससे सरकारी खजाने को लाभ होगा इस कोरोना काल में क्योकि की सरकार खुद आर्थिक संकट से जूझ रही है

विभाग -विद्युतशिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-23-09-2021शिकायत की स्थिति-

स्तर -जनपद स्तरपद -अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक21-09-2021 को फीडबैक:-आवेदक दुवारा बताया गया है की दिए गये समाधान से संतुष्ट है शिकायत को बंद कर दिया जाये

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अधीनस्थ द्वारा प्राप्त आख्या :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश/आपत्ति दिनांक आदेश/आपत्ति आख्या देने वाले अधिकारी आख्या दिनांक आख्या स्थिति संलगनक

1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 24-08-2021 अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत 08-09-2021 सन्दर्भ संख्या 40019921016458 का आख्या पोर्तल पर अपलोद किया गया है. निस्तारित

संदर्भ संख्या : 40019921016448 , दिनांक - 22 Sep 2021 तक की स्थिति
आवेदनकर्ता का विवरण :
शिकायत संख्या:-40019921016448
आवेदक का नाम-Kamlesh Singhविषय-महोदय विद्युत् चोरी से सम्बंधित प्रकरण को विभाग लापरवाही से कैसे  ले सकता है या कुछ लीपापोती का प्रयास है महोदय आप को ज्ञात हो की चोरी  बहुत बड़े स्केल पर हो रही है और इस चोरी का सूत्रधार कौन है किसी से छुपा नहीं है यही कारण है हाथी दांत  की तरह दिखाने के कुछ और खाने के कुछ चोरी की शिकायत को इतनी लापरवाही से लिया जाता  है की जैसे हर चोरी वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान  में है नारा विद्युत् चोरी की सूचना दो इनाम घर  ले जाओ यहां तो चोरी की सूचना पर बड़े अधिकारिओं को जैसे विच्छू डंक मार देता है वे ऐसा चुप्पी साधते है जैसे विश्व युद्ध छिड़ गया हो श्री मान आप  लोगो को सरकार खुद इतनी अच्छी तनख्वाह देती  है की आप हर कार्य कर सकते है किन्तु जो लालच रुपी राक्षस है व पता  नहीं क्या कराएगा कभी उन लोगो  बारे में सोचिये जिनके पास बेरोजगारी और  भोजन नहीं है उनकी क्या हालत है आज इस कोरोना काल में भुखमरी और बेरोजगारी पूरे समाज को अपना निवाला बनाने को बेकरार है  वही पर कुछ ऐसे निर्लज्ज है जिनको किसी  की परवाह नहीं सिर्फ अपने जेब भरने  अलावा उन्हें कुछ सूझता नही  है सोचिये प्रार्थी सिर्फ इतना  चाहता है की अबैध मोटर बंद हो उसमे सरकार का हित  किन्तु नौकरशाही में कोई उत्साह नहीं है क्यों सभी इसका जवाब जानते  किन्तु बोलने  साहस  नहीं है सोचिये शिकायत  भी दिया गया गया  और  सूचना भी मांगी  गयी किन्तु कोई कार्यवाही नहीं संलग्नको का परिशीलन करे संदर्भ संख्या : 40019921016206 , दिनांक - 24 Aug 2021 तक की स्थिति आवेदनकर्ता का विवरण : शिकायत संख्या:-40019921016206 आवेदक का नाम-Kamlesh Singhक्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी प्राप्त/आपत्ति दिनांक नियत दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश स्थिति1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 20-08-2021 19-09-2021 अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत कार्यालय स्तर पर लंबितआवेदक का नाम-Kamlesh Singhविषय-श्री मान अधिशाषी अभियंता महोदय विद्युत् वितरण खंड द्वितीय फतहा जिला-मिर्ज़ापुर आप की कर्तव्यनिष्ठा ईमानदारी और लोक सेवा में समर्पण उसी तरह फैल रही जिस तरह भगवान अंशुमाली की किरणे तिमिर साम्राज्य को ख़त्म कर देती है श्री मान जी आप को ज्ञात हो की प्रार्थी कई वर्षो से आप का उपभोक्ता है और आप लोगो का आशीर्वाद प्रार्थी पर बना हुआ है जिससे प्रार्थी अपने बच्चो का भरण पोषण करने में सक्षम है श्री मान अब प्रार्थी अपनी ब्यथा की ओर आ रहा है श्री मान जी अब आप इस बात पर विचार करे की एक बैध विद्युत् कनेक्शन धारक हो और दूसरा अबैध कनेक्शन जोड़ कर आटा चक्की चलाये अर्थात व्यवसाय करे सोचिये समाज में क्या सिग्नल जाएगा प्रार्थी बिल नहीं जमा कर पा रहा है क्योकि अबैध कनेक्शन धारक कम पैसा लेकर ही पानी दे देगा कोई किसान मुझसे पानी क्यों भरवाएगा अबैध कनेक्शन धारक -दिलीप सिंह पुत्र रघुवर दयाल सिंह ग्राम कोठरा कंतित पोस्ट श्री निवास धाम विकास खंड छानवें हरगढ़ फीडर जिला मिर्ज़ापुर श्री मान जी प्रार्थी द्वारा कई बार अवर अभियंता हरगढ़ पावर हाउस के समक्ष गिड़गिड़ाया किन्तु कल की बात करके टाल देते है किन्तु यह कल कभी आता ही नहीं है आप के लाइनमैन श्री राकेश सिंह जी से बात किये किन्तु प्रयास सकारात्मक नहीं रहा उनके आश्वासन को पिछले छह महीने से ढो रहा हूँ जो मात्र दिलाशा के कुछ नहीं है है महोदय आप की ईमानदारी के चर्चे इतने सुन रखे है की आप से शिकायत करने में भय लगता है कही आप नियमानुसार कार्यवाही करने लगे तो जनाब बिजली चोरी में नप जाएगे जब की प्रार्थी ज्यादा कुछ नहीं सिर्फ उनका कनेक्शन बिच्छेद चाहता है इसके अलावा उपरोक्त महाशय आटा चक्की चलाना ही चाहते है तो नियमानुसार व्यवसायिक कनेक्शन ले ले प्रार्थी को खुशी होगी क्योकि इससे सरकारी खजाने को लाभ होगा इस कोरोना काल में क्योकि की सरकार खुद आर्थिक संकट से जूझ रही है Please provide the reason of not taking action against illegal connection holder operating Aataa chakki. Provide detail regarding action in regard to theft at the Hargarh power station.
विभाग -विद्युतशिकायत श्रेणी -
नियोजित तारीख-23-09-2021शिकायत की स्थिति-
स्तर -जनपद स्तरपद -अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत
प्राप्त रिमाइंडर-
प्राप्त फीडबैक -दिनांक को फीडबैक:-
फीडबैक की स्थिति -
संलग्नक देखें -Click here
नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!
अधीनस्थ द्वारा प्राप्त आख्या :
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश/आपत्ति दिनांक आदेश/आपत्ति आख्या देने वाले अधिकारी आख्या दिनांक आख्या स्थिति संलगनक
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 24-08-2021 अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत 08-09-2021 सन्दर्भ संख्या 40019921016448 का आख्या पोर्तल पर अपलोद किया गया है. निस्तारित
संदर्भ संख्या : 40019921017223 , दिनांक - 22 Sep 2021 तक की स्थिति
आवेदनकर्ता का विवरण :
शिकायत संख्या:-40019921017223
आवेदक का नाम-Kamlesh Singhविषय-शिकायत संख्या:-40019921016206 आवेदक का नाम-Kamlesh Singh अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत कार्यालय स्तर पर लंबित शिकायत संख्या:-40019921016458 आवेदक का नाम-Kamlesh Singh अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत कार्यालय स्तर पर लंबित Registration Number UPPCL/R/2021/60475 Name Kamlesh Singh Date of Filing 20/08/2021 Status REQUEST TRANSFERRED TO OTHER PUBLIC AUTHORITY as on 26/08/2021 Details of Public Autority :- PURVANCHAL VIDYUT VITRAN NIGAM LIMITED. vide registration number :- PUVNL/R/2021/80120 respectively. श्री मान जी उत्तर प्रदेश सरकार का विद्युत् विभाग कहता है की विद्युत् चोरी की सूचना दीजिए हम इनाम देंगे और इनके कर्मचारी कहते है की हम विद्युत् चोरी से मना नहीं करेंगे क्योकि विद्युत् चोरी करने वाले दबग है श्री मान जी इनाम की बात दूर है सिर्फ पब्लिक की सूचना पर कार्यवाही हो तो विद्युत् चोरी जिसको विभाग के बड़े अधिकारी शर्म की वजह से लाइन लॉस कहते है ९० प्रतिशत रुक जाय कहा कितनी चोरी हो रही है क्या विभाग के कर्मचारिओं को नहीं मालुम है हर एक चोरी का हिसाब है किन्तु जब जेब गर्म हो तो क्या जरूरत है चोरी के पचड़े में पड़ने की विद्युत् चोरी से नुकसान तो सार्वजनिक होता है जो किसी न किसी रूप में निरीह जनता पर पड़ता है जिसको वह भोगती है किन्तु उन लोगो की क्या जो अपनी मोटी मोटी तनख्वाह से संतुष्ट नहीं है बिजली की चोरी होने देते है उपरोक्त प्रकरण में छह बार अधिशाषी अभियंता से बात की गई उन्होंने तीन बार अपने उप खंड अधिकारी से बात किया और इस तरह से एक हप्ते बीत गया किन्तु परिणाम सिफर रहा क्योकि जब उप खंड अधिकारी द्वारा लाइनमैन से बात किया गया तो बताया गया की विद्युत् चोरी करने वाले दबंग है उन्हें मना करने पर वे जो मना करने जाता है उसे पीटने लगते है इसलिए अवर अभियंता, अभियंता और अधिशाषी अभियंता सभी दर गए है क्योकि दबगों का जो भय है श्री जो योगी आदित्यनाथ मुख्य मंत्री उत्तर प्रदेश शासन सुशासन की दोहाई देते उत्कृष्ट न्याय व्यवस्था की बात करते है उनके शासन में खुद विद्युत् बिभाग के अधिकारी और कर्मचारी भयाक्रांत है और विद्युत् चोरी करने वालो से वात करने से भी कतराते है Who is creating terror in the mind of the public? Think about the gravity of the sitution that a common man raising voice against the evil doers in pursuing his fundamental duties as pescribed under Article 51 A of the constitution of India but these coward public staffs are so frightened that they can not talk to them that please stop the theft of electricity because i unlawful and you should abide by the the law of land. No staff of the department of the Uttar Pradesh power corporation limited visited the site of the theft of the electricity.
विभाग -विद्युतशिकायत श्रेणी -
नियोजित तारीख-01-10-2021शिकायत की स्थिति-
स्तर -जनपद स्तरपद -अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत
प्राप्त रिमाइंडर-
प्राप्त फीडबैक -दिनांक17-09-2021 को फीडबैक:-शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया की दिए गए समाधान से संतुष्ट है
फीडबैक की स्थिति -
संलग्नक देखें -Click here
नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!
अधीनस्थ द्वारा प्राप्त आख्या :
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश/आपत्ति दिनांक आदेश/आपत्ति आख्या देने वाले अधिकारी आख्या दिनांक आख्या स्थिति संलगनक
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 01-09-2021 अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत 08-09-2021 सन्दर्भ संख्या 40019921017223 का आख्या पोर्तल पर अपलोद किया गया है. निस्तारित

1 Comments

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

  1. Think about the gravity of the sitution that a common man raising voice against the evil doers in pursuing his fundamental duties as pescribed under Article 51 A of the constitution of India but these coward public staffs are so frightened that they can not talk to them that please stop the theft of electricity because i unlawful and you should abide by the the law of land. No staff of the department of the Uttar Pradesh power corporation limited visited the site of the theft of the electricity.

    ReplyDelete
Previous Post Next Post