Showing posts with label Anarchy. Show all posts
Showing posts with label Anarchy. Show all posts

Saturday, 3 April 2021

We are performing our civil duties if our political masters and senior bureaucrats proliferate anarchy, then what could be done?

 


Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2021/14542

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Yogi M P Singh
Date of Receipt
10/03/2021
Received By Ministry/Department
Uttar Pradesh
Grievance Description
Overlooking of transfer policy of Government of Uttar Pradesh by Uttar Pradesh Power Corporation Limited.
An application under Article 51 A of the constitution of India. Government gazette concerns the transfer of public staffs in the state of Uttar Pradesh attached to the representation which implementation must be ensured in the department of electricity Vindhyachal Mirzapur division. The matter concerns the transfer and posting of class 1 and class 2 staffs in the department of Uttar Pradesh Power Corporation Limited in Vindhyachal Mirzapur division of the Government of Uttar Pradesh. Undoubtedly transfer and posting in the government has taken a form of industry despite efforts of the government of Uttar Pradesh to curb it publically. नई तबादला नीति में एक जिले में तीन वर्ष व एक मंडल में सात साल पूरे करने वाले समूह 'क एवं 'ख के स्थानांतरण का प्रावधान किया गया है। मंडलीय कार्यालयों व विभागाध्यक्ष कार्यालयों में की गई तैनाती की अवधि को मंडल में निर्धारित सात वर्ष की अवधि में शामिल नहीं माना जाएगा। पिछली सरकार में जहां तबादलों की सीमा अधिकतम दस प्रतिशत थी, वहीं भाजपा सरकार ने इसे बीस प्रतिशत कर दिया है। Sir undoubtedly the government has set the deadline of three years to transfer a class one or class two staffs working at the district level in the field offices but it does not mean that every bogus staff will be transferred after completion of three years of service at the same place. There are many staffs in the department of electricity in the Vindhyachal Mirzapur division who have infringed the provisions of new transfer policy of the government and many touching the limit point to stay in the district Mirzapur but staying in the district because of corruption as lack of transparency and accountability in the ratification of the government policy. Demand of the applicant is to make public the date of posting of the class one and class two staffs of the department of electricity in the Vindhyachal Mirzapur division under subsection 1 b of section 4 of Right to Information Act 2005. Nowadays the head of department does not keep updating the board containing the name plate and date of joining of ongoing and outgoing. The Quantity of corruption, tyranny and arbitrariness has reached its peak and surprising is that even for legitimate works, bribes cum illegal gratifications are demanded openly.
Grievance Document
Current Status
Case closed
Date of Action
01/04/2021
Remarks
अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित complain has been clossed. please check सन्दर्भ संख्या 60000210049104 का आख्या पोर्तल पर अपलोद किया गया है.
Reply Document
Rating
Poor
Rating Remarks
महोदय क्या जिस ढंग से निस्तारण हुआ है क्या वह नियमानुसार है यदि यह प्रबंध निदेशक के क्षेत्राधिकार में आता है तो इसका निस्तारण प्रबंध निदेशक के स्तर से होना चाहिए था सिर्फ यह बताना की यह मेरा क्षेत्राधिकार नहीं है किस तरह से उचित है गौर करने की बात यह है की ब्यथा निवारण हो गया सिर्फ इस आधार पर की सम्बंधित अधिकारी द्वारा यह बताया गया की इस आराजकता के लिए वह जिम्मेदार नहीं है वल्कि प्रवन्ध निदेशक है क्या संदर्भित प्रकरण से मुँह मोड़ना और असंगत जवाब देने से क्या आराजकता नहीं बढ़ेगी इस समय आराजकता का साम्राज्य बढ़ता जा रहा है नौकरशाही पूर्ण रूप से निरकुंश हो चुकी है और इस निरंकुशता का मुख्य वजह है भ्र्ष्टाचार आज हम भ्र्ष्टाचार के युग में जी रहे है श्री मान जी सिर्फ कहने मात्र से कोई ईमानदार नहीं हो सकता जब की उसकी कार्यशैली में ईमानदारी न हो प्रकरण महत्वपूर्ण है किन्तु कोई गंभीरता से ले ही नहीं रहा है अंधेर नगरी चौपट राजा की कहावत पूर्ण रूप से चरितार्थ है इस परिवेश में
Officer Concerns To
Officer Name
Shri Bhaskar Pandey
Officer Designation
Joint Secretary
Contact Address
Chief Minister Secretariat Room No.321 U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
bhaskarpandey2214@gmail.com
Contact Number
2226350

Friday, 2 April 2021

Third time attack in group of 15, threatened to kill before police such is the law and order in the state capital of Uttar Pradesh

 












Grievance Status for registration number : PMOPG/E/2021/0231479

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Ashutosh Singh
Date of Receipt
02/04/2021
Received By Ministry/Department
Prime Ministers Office
Grievance Description
श्री मान जी अपराधियों को भारतीय दंड विधान की धारा  ३०७ में निरुद्ध किया जाना समीचीन होगा क्योकि उनका हौसला बढ़ा हुआ है और वे लोग प्रार्थी पर दो बार जान लेवा हमला कर चुके है आज तीसरी बार शाम पांच बजे १५ अराजक तत्व लाठी डंडे और राड से लैस होकर जिनके पास अत्याधुनिक असलहे भी थे प्राथी  के आवास applicant Ashutosh Singh S/O Mr Narendra Pratap Singh APC State II A  Literacy House Kanpur Road Lucknow पर धावा बोले जो प्रदेश की राजधानी में कानून की बिगड़ती दशा का द्योतक है यह महत्वपूर्ण है की क्या उन १५ दहसत गर्दो में प्रदेश की कानून ब्यवस्था का भय है क्या सम्बन्धित पुलिस अधिकारी तीसरा प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करेंगे या अपराधियों बढे हुए मनोबल को परदेके पीछे से संजीवनी देंगे श्री मान जी पुलिस के समक्ष जान से मारने की धमकी देना ही पुलिस की असली पोल खोल रहा है क्या इन पंद्रह दहसत गर्दो को पुलिस का आशीर्वाद प्राप्त जो खुले आम एक शहरी को बार बार जान से मारने का प्रयास कर रहे है क्या सम्बंधित पुलिस कोई कार्यवाही की या सिर्फ मामले का तमाशबीन बन के रह जाएगी योगी आदित्यनाथ की कुर्सी के नीचे यह क्या तमाशा हो  रहा कानून व्यवस्था का नंगा नाच फिर भी कानून व्यवस्था चुस्त दुरुस्त अर्थात सच से कोसो दूर श्री मान जी १५ लोगो के विरुद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करके बलवा का मुक़दमा कायम किया जाय और प्रार्थी को सुरक्षा प्रदान की जाए अन्यथा प्रार्थी की मृत्यु के लिए प्रशासन जिम्मेदार होगा क्यों की वरिष्ठ अधिकारिओं के संज्ञान में है मामला फिर भी निचला स्तर  खड्यंत्र करने से बाज नहीं आ रहा है प्रार्थी को पुलिस की सुरक्षा प्रदान की जाए   शिकायत संख्या:- 40015721023433 आवेदक का नाम- Ashutosh Singh
The matter concerns the biased approach of the Sarojini Nagar police station District Lucknow as they are shielding the offenders by not lodging the First Information Report under appropriate sections of the Indian Penal Code. Copy of the medical report attached to this representation carried out under the direction of senior rank staff of the police itself disclosing the gravity of the offence as still after four days of assault in medical examination of the victim blood clots found on the upper lid of the Left eye and lower eyelid is also injured quite obvious black colour clotted blood which 3-4 days old quite obvious from the medical report. Sir second assault on the applicant cum victim within a week and not lodging First Information Report under relevant sections of Indian Penal by the Sarojini Nagar police station District Lucknow itself putting integrity of the police under cloud. Whether police was taken under good faith during the second assault quite obvious from the circumstantial evidence as lackadaisical approach of police of  Sarojini Nagar police station District Lucknow dealing with the matter? Here second assault and apathy of police concerned may be considered as a criminal conspiracy to terrorize the victim by colluding with the police as a threat of lodging F.I.R. in the first assault on the victim.This is humble request of your applicant to direct Sarojini Nagar police station District Lucknow to rectify the First Information Report under the light of the medical report of the government doctor carried out under the direction of a senior rank police officer attached to the representation and arrest the accused whose identity is available to police.   संदर्भ संख्या : 40015721022840 , दिनांक - 01 Apr 2021 तक की स्थिति
आवेदनकर्ता का विवरण : शिकायत संख्या:-40015721022840 आवेदक का नाम-Ashutosh Singh
 आख्या क्षेत्राधिकारी / सहायक पुलिस आयुक्त पुलिस  31-03-2021 29-04-2021 थानाध्‍यक्ष/प्रभारी नि‍रीक्षक-सरोजनी नगर,जनपद-लखनऊ,पुलिस कृपया उपरोक्त सबंध में तत्काल नियमानुसार कार्यवाही कर कृत कार्यवाही से अवगत कराने का कष्ट करें कार्यालय स्तर पर लंबित
Grievance Document
Current Status
Grievance Received
Date of Action
02/04/2021
Officer Concerns To
Forwarded to
Prime Ministers Office
Officer Name
Shri Ambuj Sharma
Officer Designation
Under Secretary (Public)
Contact Address
Public Wing 5th Floor, Rail Bhawan New Delhi
Email Address
ambuj.sharma38@nic.in
Contact Number
011-23386447

Failure of the government of Uttar Pradesh headed by Yogi Aditynath to take action against the corruption of L.D.A.

 












Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2021/18334

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Yogi M. P. Singh
Date of Receipt
02/04/2021
Received By Ministry/Department
Uttar Pradesh
Grievance Description
Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2021/07743
Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M. P. Singh
Date of Receipt 13/02/2021 Received By Ministry/Department Uttar Pradesh
Grievance Description The matter concerns the failure of the government of Uttar Pradesh headed by Yogi Aditynath to take action against the corruption prevailing in the public offices in the government of Uttar Pradesh including chief minister office.
Demand -Action against Joint Secretary Arun Kumar Dube.
As well as demand of action against special working officer Rajeev Kumar for procrastinating on the matter concerned with deep rooted corruption as shielding the wrongdoer staffs of Lucknow Development Authority because protecting the corruption of the department..
The matter concerns the deep rooted corruption but the concerned government functionaries close the grievances by submitting arbitrary reports.
सचिव लखनऊ विकास प्राधिकरण ने अपने पत्र दिनांक २५/०३/२०२१ द्वारा जो की संयुक्त सचिव अरुण कुमार दुबे को सम्बोधित है पुनः वांछित अभिलेख की बात कर रहे है क्योकि विवाद से सम्बंधित कोई भी दस्तावेज न तो लखनऊ विकास प्राधिकरण के कार्यालय में है और न हीं पांचो भू खंड स्वामियों के पास है क्यों की वे अपने भूखंड का विक्रय के उपरांत समस्त मूल दस्तावेज दिनेश प्रताप सिंह को सौप दिए है
उपरोक्त द्वारा प्रार्थी से समस्त साक्ष्य और हलफनामा के साथ उपस्थित होने के लिए अनुरोध किया गया है श्री मान जी प्रार्थी द्वारा समस्त अभिलेख दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह द्वारा उपलब्ध किये गए अभिलेखों की स्कैन कॉपी उपलब्ध कराई गई है और रंगीन स्कैन्ड कॉपी किसी भी मूल दस्तावेज की ऑथेंटिक प्रति होता है श्री मान जी प्रार्थी द्वारा उपलब्ध कराये गए दस्तावेजों के दो ही संरक्षक है १- खुद लखनऊ विकास प्राधिकरण जो सरकार का प्रतिनिधि है और विक्रेता है और २-क्रेता अर्थात आराधना सिंह उर्फ अनुराधा सिंह उर्फ गुड्डी सम्बंधित पांच भूखंडो की स्वामिनी जिनके पती का नाम बाबू सिंह है श्री मान जी आराधना सिंह उर्फ अनुराधा सिंह उर्फ गुड्डी के पास कोई दस्तावेज नहीं है मूल रूप में क्यों की समस्त दस्तावेज तीसरे क्रेता को अर्थात दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह को मूल रूप में उपलब्ध करा दिया गया है श्री मान जी लखनऊ विकास प्राधिकरण के पास कोई दस्तावेज नहीं है मूल रूप में क्यों की समस्त दस्तावेज इसलिए गायब कर दिए गए क्योकि संपत्ति रजिस्ट्री का कार्य कूट रचित दस्तावेज से सम्पादित करना था और माननीय उच्च न्यायालय के आदेश को जिसमे मालिकाना हक़ निश्चित करना था उसको नजरअंदाज करने की एक बड़ी साजिश थी श्री मान जी रही प्रार्थी को मूल दस्तावेज उपलब्ध कराने की तो दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह द्वारा पिछले बीसो सालो से उन्हें मूल दस्तावेज उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है जिनकी पुष्टि खुद लखनऊ विकास प्राधिकरण के दस्तावेज करते है श्री मान जी आपका आदेश हो तो दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह द्वारा समस्त दस्तावेज आप की सेवा में पुनः प्रस्तुत किया जाय और आप माननीय उच्च न्यायालय के आदेश के क्रम में समस्त दस्तावेजों का परिशीलन करे साथ ही अनियमितताओं को भी जांच ले महोदय प्रार्थी द्वारा आप के समक्ष उन दस्तावेजों को प्रस्तुत करना जो की प्रार्थी के अभिरक्षा में नहीं है कैसे न्याय संगत हो सकता है जहा तक अनियमितता के सम्बन्ध में कार्यवाही का सम्बन्ध है वह कार्यवाही तो मूल दस्तावेजों के स्कैन कॉपी के आधार पर ही गतिशील है चूकि इस गंभीर अनियमितता में तत्कालीन कर्मचारी जांच की परिध में आ सकते है इसलिए आप जांच को दूसरा मोड़ देने का प्रयास कर रहे है आप से अपेक्षा है की आप मूल दस्तावेज दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह तलब करे और संपत्ति मालिकाना हक़ निश्चित करे तथा उच्च न्यायालय का समादर सुनिश्चित करे और मामले का पटाक्षेप करे प्रार्थी से बार बार दस्तावेजों की मांग करना जिसका संरक्षक प्रार्थी नहीं है अबैध है आप प्रार्थी को कानून विरुद्ध कार्य करने के लिए बार बार दबाव न डाले क्योकि यह कृति भारतीय दंड विधान में अपराध की कोटि में आता है उसके लिए आप खुद उत्तरदायी होंगे
Grievance Document
Current Status
Grievance received
Date of Action
02/04/2021
Officer Concerns To
Forwarded to
Uttar Pradesh
Officer Name
Shri Bhaskar Pandey
Officer Designation
Joint Secretary
Contact Address
Chief Minister Secretariat Room No.321 U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
bhaskarpandey2214@gmail.com
Contact Number
2226350

Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2021/07743

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Yogi M. P. Singh
Date of Receipt
13/02/2021
Received By Ministry/Department
Uttar Pradesh
Grievance Description
The matter concerns the failure of the government of Uttar Pradesh headed by Yogi Aditynath to take action against the corruption prevailing in the public offices in the government of Uttar Pradesh including chief minister office.
Demand -Action against Joint Secretary Arun Kumar Dube.
As well as demand of action against special working officer Rajeev Kumar for procrastinating on the matter concerned with deep rooted corruption as shielding the wrongdoer staffs of Lucknow Development Authority because protecting the corruption of the department..
The matter concerns the deep rooted corruption but the concerned government functionaries close the grievances by submitting arbitrary reports.
Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2020/39477 and GOVUP/E/2020/29886
Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M P Singh
Date of Receipt 13/12/2020 and 20/09/2020 respectively.
Date of Receipt 20/09/2020 Received By Ministry/Department Uttar Pradesh
Date of Action 08/12/2020 Remarks प्रकरण का सम्बरन्ध उ0प्र0 सरकार से नहीं
Whether the aforementioned reply is not the arbitrary reply.Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2020/33676
Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M. P. Singh
Date of Receipt 20/10/2020 Received By Ministry/Department Uttar Pradesh Date of Action 04/12/2020 Remarks प्रकरण का सम्बन्ध उ0प्र0 सरकार से नहीं है
संदर्भ संख्या : 60000210010604 , ददनांक - 13 Feb 2021 तक की स्थितत आवेदनकताभ का वववरण : तिकायत संख्या:-60000210010604 आवेदक का नाम- Yogi M P Singh More detail attached to representation.
Whether the aforementioned reply is not the arbitrary reply. It is quite ridiculous that the Chief Minister Office itself in the Government of Uttar Pradesh is not responding well to the representations concerned with the serious allegations of corruption. Which is quite obvious from the response of the joint secretary in the Chief Minister office of the Government of Uttar Pradesh. Who avoided the Representation concerned with the serious allegations of the corruption in the Lucknow Development Authority by overlooking the grievance on the flimsy ground? Which is the mockery of the law of land and the reflection of rampant corruption in the government machinery in Uttar Pradesh.It is quite obvious that concerned staff joint secretary Arun Kumar Dubey submitted an inconsistent, arbitrary note to manage the grievances disposed of. Which is the reflection of rampant corruption in the government machinery of the Government of Uttar Pradesh. The accountable public functionaries must demoralize such practices to curb the anarchy in the government machinery. Undoubtedly Arun Kumar Dube is colluding with the wrongdoer staff of the concerned department otherwise there was no need to attach such a report to manage the grievances disposed of. For detail, vide attached grievance.


सोचिये एक गरीब आदमी पांच प्लाट खरीद कर एक मकान बनाएगा जो की पूर्ण रूप से अबैध और अप्राकृतिक है किन्तु लखनऊ विकास प्राधिकरण में व्याप्त भ्रस्टाचार से ऐसा संभव हो रहा है प्रार्धना पत्र के साथ लखनऊ विकास प्राधिकरण के तीन इकरार नामा लगे है जो बाबू सिंह उसकी पत्नी आराधना उर्फ गुड्डी और कनिष्क कुमार सिंह के है जिसको उपरोक्त प्राधिकरण के कर्मचारी शीतला पाल सिंह सहायक नगर अधिकारी द्वारा सम्पादित किया गया है जिसके अनुसार बाबू सिंह की उम्र ३० वर्ष पत्नी आराधना उर्फ गुड्डी सिंह की उम्र २५ वर्ष तथा पुत्र कनिष्क कुमार सिंह की उम्र १८ वर्ष है अर्थात गर्भ स्थापना के समय पिता की उम्र ११ वर्ष और माता की उम्र ६ वर्ष अर्थात शास्त्र और विज्ञानं दोनों के लिए असंभव है किन्तु लखनऊ पुलिस और विकास प्राधिकरण के लिए बाबू सिंह और उनकी पत्नी आदर्श है और व्यक्ति आदर्श पुरुष में दोष नहीं देखता तभी तो पति , पत्नी , पुत्र, पत्नी की माँ और पत्नी के भाई के नाम एक झटके में पांच प्लाट लखनऊ विकास प्राधिकरण के कानपुर योजना के सेक्टर एच मुख्य मार्ग पर एस एस प्रकार के योजना के हथियाये
Grievance Document
Current Status
Case closed
Date of Action
25/03/2021
Remarks
PLEASE SEE THE ATTACHMENT. PLEASE SEE THE ATTACHMENT.
Reply Document
Rating
Poor
Rating Remarks
श्री मान जी प्रार्थी द्वारा समस्त अभिलेख दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह द्वारा उपलब्ध किये गए अभिलेखों की स्कैन कॉपी उपलब्ध कराई गई है और रंगीन स्कैन्ड कॉपी किसी भी मूल दस्तावेज की ऑथेंटिक प्रति होता है श्री मान जी प्रार्थी द्वारा उपलब्ध कराये गए दस्तावेजों के दो ही संरक्षक है १- खुद लखनऊ विकास प्राधिकरण जो सरकार का प्रतिनिधि है और विक्रेता है और २-क्रेता अर्थात आराधना सिंह उर्फ अनुराधा सिंह उर्फ गुड्डी सम्बंधित पांच भूखंडो की स्वामिनी जिनके पती का नाम बाबू सिंह है श्री मान जी आराधना सिंह उर्फ अनुराधा सिंह उर्फ गुड्डी के पास कोई दस्तावेज नहीं है मूल रूप में क्यों की समस्त दस्तावेज तीसरे क्रेता को अर्थात दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह को मूल रूप में उपलब्ध करा दिया गया है श्री मान जी लखनऊ विकास प्राधिकरण के पास कोई दस्तावेज नहीं है मूल रूप में क्यों की समस्त दस्तावेज इसलिए गायब कर दिए गए क्योकि संपत्ति रजिस्ट्री का कार्य कूट रचित दस्तावेज से सम्पादित करना था और माननीय उच्च न्यायालय के आदेश को जिसमे मालिकाना हक़ निश्चित करना था उसको नजरअंदाज करने की एक बड़ी सा
Officer Concerns To
Officer Name
Shri Bhaskar Pandey
Officer Designation
Joint Secretary
Contact Address
Chief Minister Secretariat Room No.321 U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
bhaskarpandey2214@gmail.com
Contact Number
2226350

If municipality pumps out water then how drainage water is spreading over roads and logging in park causing hike in mosquitoes

 


Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2021/15769

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Yogi M. P. Singh
Date of Receipt
18/03/2021
Received By Ministry/Department
Uttar Pradesh
Grievance Description
Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2021/11004
Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M. P. Singh
Date of Receipt 01/03/2021 Received By Ministry/Department Uttar Pradesh
श्री मान जी उपरोक्त प्रकरण में जे. पी पुरम कॉलोनी का रिपोर्ट लगा है जब की प्रार्थी सुरेकापुरम कॉलोनी की बात कर रहा है ऐसा प्रतीत होता है की अधिशाषी अधिकारी नगरपालिका मिर्ज़ापुर सिटी बिना पत्रों का परिशीलन किये बिना ही जवाब लगाते है जो की अनुशासनहीनता की कोटि में आता है इसलिए मामले का निस्तारण जिम्मेदारी से किया जाय मनमाना जवाब लगाना आराजकता का द्योतक है
Over many months complaints are being made against the water logging in the park and overflowing of the drainage but no appropriate action is being taken by the concerned public staff especially municipality Mirzapur City which reflects complete anarchy, lawlessness in the government machinery and this lawlessness has the blessings of the senior executives. Why are they submitting the false report? It means our system has been incredible because of insensitivity of senior rank officers. Those grievances submitted on the public grievance portal, they only close on the portal and in regard to action, they are not taking any action. Whether it is not anarchy. Whether government is providing huge salary to take rest in the air conditioned rooms or work in the field. Public is crying and you are taking rest and leisure. Whether this luxury can provide you mental peace? Here role of accountable public functionaries are quite negative which must be subjected to enquiry.

महोदय आप क्यों झूठी रिपोर्ट लगाते है इस समय मच्छरों की जनसँख्या १० गुनी हो चुकी है जल्द ही किसी को डेंगू होगा और उसके लिए नगर पालिका प्रशासन जिम्मेदार होगा आज कल सड़को पर पानी बह रहा है और ये पाइप लाइन विछवा रहे है महोदय सुरेकापुरम के हर घर में सबमर्सिबल पंप और मेरे घर में हैंड पंप है यहां की समस्या पानी निकालने की है न की पानी बहाने की सरकारी फण्ड का मिसयूज कर रहे है इस समय सड़क ख़राब करने में लगे है सोचिये इन्हे पानी कनेक्शन के लिए कोई प्रार्थना पत्र दिया जब देता था तब कहते थे यह प्राइवेट कॉलोनी है जब सब ने कर्ज से व्यवस्था कर ली तो ये अब पानी में डुबोने की ब्यवस्था कर रहे है श्री मान जी अगर हिंदी भी समझ नहीं आती तो कम से कम से संलग्न फोटोग्राफ्स को ही देख ले नाली साफ करे जिससे सड़क और पार्क की गन्दगी दूर हो आप सड़क को सिर्फ इसलिए खोद रहे है जिससे आप यह दिखाए की यहां पाइप लाइन बिछ गई लेकिन यहां की आवश्यकता तो पानी निकालने की है इसलिए आप पानी निकालने की व्यवस्था करे न की झूठे काम दिखा कर अपना जेब भरे
Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2020/38143
Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M. P. Singh
Date of Receipt 01/12/2020 Received By Ministry/Department Uttar Pradesh
It would be appropriate that an enquiry may be ordered in the matter so that truth may come out from the Pandora box. Undoubtedly it is too much troublesome that grievances are disposed of by submitting arbitrary reports inconsistent to contents of the submitted grievances. There are alarming rise in the mosquitoes because of water logged in the parks and this dirty water is spreading on the roads. I think that that government functionaries has one point agenda to mislead the people in the name development through print and electronic media. Nothing is being done at ground level.
Grievance Document
Current Status
Case closed
Date of Action
24/03/2021
Remarks
सम्बंधित जाँच आख्या अपलोड है श्रीमान जी की सेवा में विस्तृत आख्या सादर प्रेषित है.
Rating
Poor
Rating Remarks
Report is attached according to the concerned staffs of the government of Uttar Pradesh but where is the report? Where is the detail report? There is water logged in the Surekapuram colony. They can not deny it that drainage water is not logged in the park and not spreading over the roads.
Officer Concerns To
Officer Name
Shri Bhaskar Pandey
Officer Designation
Joint Secretary
Contact Address
Chief Minister Secretariat Room No.321 U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
bhaskarpandey2214@gmail.com
Contact Number
2226350

PIO directorate women welfare returned arbitrarily online submitted RTI Communique to conceal its wrongdoings

  Preeti Singh <preetisinghgaharwar@gmail.com> PIO directorate women welfare Uttar Pradesh returned arbitrarily online submitted RTI C...