Yogi

6/recent/ticker-posts

R.T.O. submitted inconsistent and bogus report in the matter concerning serious allegations of corruption with substantial evidence ipso facto

 

Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2022/89069

Grievance Concerns To

Name Of Complainant

Yogi M. P. Singh

Date of Receipt

30/10/2022

Received By Ministry/Department

Uttar Pradesh

Grievance Description

श्री मान जी आप की आख्या इस प्रकार है लेट फीस माफी के परिवहन आयुक्त महोदय के पत्र दिनांक 29-04-2019 प्राप्त हुये है। अत: आप ऑनलाइन फीस जमा कर नियत तिथि को कार्यालय में उपस्थित होकर बायोमैट्रिक करा सकते है और उसके पश्चात आप कहते है आपका ​डी० ​एल0 संबंधित​ ​एजेंसी के​ ​माध्यम से​ ​आगामी दिनों में​ ​आपके पते पर​ ​उपलब्ध हो​ ​जायेगा।

क्या उपरोक्त आख्या शिकायत के बिंदुओं से मेल खाती है | यदि नहीं तो कैसा निस्तारण और व्यथा निस्तारित हो गयी यही कारण है सरकार के हर कार्यालय में भ्रष्टाचार का बोलबाला है क्योंकि भ्रष्टाचार को देख कर हमारे लोक सेवक आँख बंद कर लेते है | लेट फीस माफी के परिवहन आयुक्त महोदय के पत्र दिनांक 29-04-2019 प्राप्त हुये है। अत: आप ऑनलाइन फीस जमा कर नियत तिथि को कार्यालय में उपस्थित होकर बायोमेट्रिक करा सकते है। क्या उपरोक्त आख्या शिकायत के बिंदुओं से मेल खाती है | यदि नहीं तो कैसा निस्तारण

शिकायत संख्या:--40019919022742 आवेदक का नाम-Yogi M. P. Singh विषय- आवेदन का विवरण शिकायत संख्या-40019918015567 आवेदक कर्ता का नाम:-Yogi M P Singh आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:7379105911, विषय: Why did RTO Mirzapur not make available the renewed driving licence in itself a mystery Following Signed request was sent on 19-05-2018 to RTO Office Mirzapur along with the requisite documents addressed as follows but it is unfortunate that concerned didn’t take any action on the matter while the documents were delivered to RTO Office Mirzapur on 22-05-2018 ipso facto obvious from the speed post tracking of the concerned mail attached to this application. And more. आख्या-जिलाधिकारी 22 - Jun - 2018 सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी-मिर्ज़ापुर,परिवहन विभाग कृपया जॉंचोपरान्त आवश्‍यक कार्यवाही करने का कष्ट करें 27/06/2018 शिकायत में उल्लिखित डीएल के संबंध में आख्‍या संलग्‍न कर प्रेषित है। निस्तारित श्री मान जी उपरोक्त प्रकरण का सारांश कुछ इस प्रकार है | प्रार्थी ऑनलाइन आवेदन प्रस्तुत करना चाहा सारथी पोर्टल लैपटॉप के स्क्रीन पर मैसेज डिस्प्ले हुआ चालक लाइसेंस से सम्बंधित सूचना फीड नहीं है तो प्रार्थी इनके यहां फॉर्म फॉर्म ९ भर कर ऑफ़ लाइन रिन्यूअल के लिए अनुनय विनय किया गया किन्तु सम्बंधित कर्मचारी द्वारा सीधे आवेदन लेने से मना कर दया गया | अब प्रार्थी के पास कोई विकल्प नहीं था क्योकि वे लोग उस समय १५०० रुपये की मांग कर रहे थे | और यह १५०० रूपये के अतिरिक्त कुछ नही लग रहा था | इसलिए मैंने स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया से २०० रुपये का ड्राफ्ट बनवाया और जिसके प्रोसेस में लगभग १ महीने लगा | फिर प्रार्थी द्वारा फॉर्म ९ को पुनः स्पीड रजिस्टर्ड डाक से आर. टी. ओ. मिर्ज़ापुर के पास भेजा किन्तु इन्होने उसे भी बैंक ड्राफ्ट के साथ वापस कर दिया | जैसा की संलग्नक संख्या 1 से स्पष्ट है | श्री मान जी आप संलग्नको का अवलोकन करे देखिये आर. टी. ओ. मिर्ज़ापुर ने वित्तीय वर्ष २०१८-२०१९ में ४६५ चालक लाइसेंस का शुल्क कैश के रूप में लिया है | और इस तरह से ९७५५० रुपये शुल्क कॅश के रूप में कलेक्ट किया गया | अर्थात उपरोक्त आवेदनों को ऑफ़ लाइन प्रोसेस किया गया और यह तब किया गया जब की प्रार्थी से न तो शुल्क कैश के रूप में लिया गया और नहीं बैंक ड्राफ्ट के रूप में लिया गया | और चौकाने वाले तथ्य उपरोक्त से स्पष्ट है की औसत प्रति चालक लाइसेंस शुल्क -२०९ रुपये ७९ पैसे है और आज के तिथि में प्रार्थी से ३००० रुपये दो पहिया वाहन चालक नवीनीकरण शुल्क मांगा जा रहा है | श्री मान जी क्या यह महान लोकतंत्र गरीबो मजलूमों का इसी तरह शोषण करता है और लोकतंत्र के रक्षक मूक दर्शक हो कर तमाशा देखते है

Grievance Document

Current Status

Case closed

Date of Action

17/11/2022

Remarks

अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित आख्या संलग्न कर प्रेषित की जा रही है

Reply Document

Rating

1

Poor

Rating Remarks

श्रीमान जी संबंधित प्रकरण में संभागीय परिवहन विभाग के अधिकारी द्वारा यह बताया गया कि संबंधित प्रकरण का निस्तारण सारथी वेबसाइट के अनुसार किया जा चुका है और समस्त शिकायतों का निस्तारण सारथी वेबसाइट पर उपलब्ध नियमों के अनुसार किया जाता है किंतु श्रीमान जी भूल रहे हैं कि प्रार्थी द्वारा भी यही बात उठाई गई है कि यदि समस्त शुल्क ऑनलाइन लिए जाने थे तो 50% से ज्यादा शुल्क ऑफलाइन क्यों लिया गया और खुद प्रार्थी का शुल्क ऑफलाइन जबकि नहीं लिया गया क्या यह बहुत बड़ा भ्रष्टाचार नहीं है और उस समय इस भ्रष्टाचार को उठाने पर कोई कार्यवाही नहीं हुई थी अब प्रार्थी चाहता है कि उस पर कार्यवाही हो किंतु आज भी संभागीय परिवहन के कर्मचारी और अधिकारी भ्रष्टाचार से संबंधित प्रकरण को उपेक्षित कर रहे हैं जो किसी भी तरह से स्वीकार्य नहीं है क्योंकि इससे सिर्फ भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलेगा और कोई भी व्यक्ति जो ईमानदार है ऐसी व्यवस्था को पुष्पित और पल्लवित नहीं होने देगा यह भाग्य की विडंबना है कि भ्रष्टाचार से संबंधित प्रकरणों का पूर्ण रूप से नजरअंदाज किया जाता है जिससे भ्रष्टाचार को पूर्ण रूप से नजरअंदाज किया जाता

Officer Concerns To

Officer Name

Shri Bhaskar Pandey (Joint Secretary)

Organisation name

Government of Uttar Pradesh

Contact Address

Chief Minister Secretariat , Room No. 321, U.P. Secretariat, Lucknow

Email Address

bhaskar.12214@gov.in

Contact Number

05222226350