Krishna Nagar police is submitting arbitrary reports on public grievance portal of government after colluding with offenders in grabbing road

 

Grievance Status for registration number : PMOPG/E/2022/0200569

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Kiran Singh
Date of Receipt
28/07/2022
Received By Ministry/Department
Prime Ministers Office
Grievance Description
If the police itself accepts that the road belongs to Kiran Singh, why sub inspector Kamala Dayal is using it as its own and who did paimise and found the road exists only 15 feet not 16 feet? उप निरीक्षक अभय कुमार वाजपेयी द्वारा प्रस्तुत दो रिपोर्ट खुद ही एक दुसरे का विरोध करते है कभी कहते है कोई कब्ज़ा नहीं हुआ है कभी कहते है रोड १५ फ़ीट ही चौड़ी है रोड पर आने जाने के लिए मिटटी कमला दयाल उपनिरीक्षक द्वारा फेकवाई गयी है मिट्टी का कटाव रोकने के लिए दीवाल बनाई गई श्री मान जी क्या वह रोड कमला दयाल उपनिरीक्षक का है 
आवेदनकर्ता का विवरण :शिकायत संख्या:-60000220107657,Where is the one foot road that must be explained by the station house officer of police station-Krishna Nagar, Lucknow, Uttar Pradesh and how private road of the aggrieved can be grabbed by offenders? थाना-कृष्णा नगर, लखनऊ, उत्तर प्रदेश के थाना प्रभारी को स्पष्ट करना चाहिए कि एक  फुट रोड कहां है और किस प्रकार पीड़ित की निजी सड़क को अपराधियों द्वारा हथिया लिया जा सकता है? 
श्री मान जी कमला दयाल उपनिरीक्षक लोकल इंटेलिजेंस  यूनिट जिस भू स्वामी से भू खंड  खरीदा है वह दूसरा है और प्रार्थिनी द्वारा जमीन श्री मती  शिमला देवी पत्नी राम सहाय यादव से श्री राम बालक यादब पुत्र श्री शंकर लाल निवासी अली नगर सुनहरा की मध्यस्थता में खरीदी गयी और इस रोड का बिबाद पूर्व में प्रार्थिनी और भू स्वामिनी के बीच में पैदा हुआ था जिसका निस्तारण एक समझौते के रूप में हुआ और वह समझौता खुद थाना-कृष्णा नगर, लखनऊ, उत्तर प्रदेश के थाना प्रभारी द्वारा दिनांक १४ अप्रैल २००५ को कराया गया जिसके गवाह श्री राम बालक यादब पुत्र श्री शंकर लाल निवासी अली नगर सुनहरा और प्रेम प्रकाश पुत्र मक्का लाल निवासी केसरीखेड़ा थे श्री मान समझौते के अनुसार १६ फ़ीट रास्ते को प्रार्थिनी किरन सिंह को दिया गया है उस पर भू स्वामिनी के सगे सम्बन्धी कभी कोई दावा नहीं करेंगे और किसी को बेचेंगे भी नहीं उसका इस्तेमाल प्रार्थिनी को करना है श्री मान जी संलग्न रिपोर्ट्स से स्पस्ट है आप कभी कहते है की प्रार्थिनी का रोड और रास्ता सुरक्षित है और कभी कहते है १५ फ़ीट रास्ता है जिस पर कमला दयाल मिट्टी फेकवाई है और दीवाल उठाई है किसके परमिशन से कमला दयाल ने ऐसा किया आप स्पस्ट करे कोई कही भी मिट्टी फेकवा देगा दीवाल उठवा देगा क्यों की वह पुलिस में उपनिरीक्षक है आवेदनकर्ता का विवरण शिकायत संख्या40015722049767 आवेदक का नामKiran Singh श्री मान जी आप द्वारा किस आधार पर यह कहा जा रहा है की प्रार्थी की जमीन और रोड सुरक्षित है क्या आप द्वारा पैमाइस की गयी है श्री मान जी तथ्य तो यह है की आप द्वारा मौक़ा मुआयना तक नहीं किया गया आप द्वारा जनसुनवाई पोर्टल का मजाक बनाया गया है प्रार्थिनी फिर से आप से अनुरोध करती है की आप पोर्टल पर गोलमटोल जवाब लगा कर शिकायत को बंद करने के बजाय मामले के तथ्यों पर जाय और विपक्षियों जो अपराध कारित किए है दूसरे के जमीन को जबरदस्ती कब्जा करने के जुर्म में उपयुक्त भारतीय दंड विधान और भारतीय दंड संहिता के सुसंगत धाराओं में निरुद्ध करे जो न्याय हित में होगा आक्षेपित भूमि का  नापी किये बिना उप निरीक्षक अभय कुमार वाजपेयी थाना कृष्णा नगर लखनऊ इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि अपराधियों ने जमीन पर कब्जा नहीं किया है. कृपया उक्त उप निरीक्षक अभय कुमार वाजपेयी को पुलिस द्वारा उपलब्ध करायी गयी तकनीक उपलब्ध करायें जो बिना स्थल पर जाये तथा थाने में बैठे हुए मामलों की जांच में सहायक है
संख्या40015722052249 आवेदक का नामKiran Singhउपरोक्त शिकायत में महेश कुमार चौकी इंचार्ज विजयनगर द्वारा रिपोर्ट प्रस्तुत किया गया उनकी दलील है की प्रार्थिनी के निबंधन विलेख में १६ फिट के स्थान पर १५ फिट ही रास्ता है और उस पर उपनिरीक्षक कमला दयाल मिट्टी फेकवा रही है और उसे बहने से बचाने के लिए दीवाल बनवाई है अर्थात प्रार्थिनी के रोड का कमला दयाल द्वारा अपने रोड जैसा उपयोग किया जा रहा है सिर्फ इसलिए की पुलिस में उपनिरीक्षक है और महिला होने के नाते वरिष्ठ अधिकारियों की सहानुभूति हासिल है महोदय महेश कुमार चौकी इंचार्ज विजयनगर ने तो कमला दयाल उपनिरीक्षक लोकल इंटेलिजेंस  यूनिट प्रार्थिनी के रोड पर कब्जा को ही न्यायोचित ठहरा दिया परदे के पीछे क्या डील हुई कौन जानता है वाह रे लखनऊ पुलिस कानून का मखौल उड़ाना कोई आप से सीखे उप निरीक्षक अभय कुमार वाजपेयी थाना कृष्णा नगर लखनऊ ने अपनी रिपोर्ट में स्पस्ट रूप से कहा प्रार्थी की जमीन और रोड सुरक्षित है रोड पे मिट्टी फेकी जा रही है सब्मर्सिबल पंप लगाया गया देवाल खड़ी कर दी गई १६ फिट को १५ फिट बना दिया गया बिना तहसील की राय  के श्री मान जी सम्बं
Grievance Document
Current Status
Case closed
Date of Action
11/08/2022
Remarks
अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित जाँचकर्ता की आख्या मूलरूप से पोर्टल पर अवलोकनार्थ सादर सेवा में प्रेषित है अनुमोदित श्रीमान जी जांचोपरांत आख्या सादर सेवा मे प्रेषित है कृपया संलग्नक प्राप्त करे श्रीमान जी जांचोपरांत आख्या सादर सेवा मे प्रेषित है कृपया संलग्नक प्राप्त करे
Reply Document
Rating
Poor
Rating Remarks
कृष्णा नगर पुलिस उस सड़क से अतिक्रमण हटा सकती है जिस पर अपराधियों द्वारा उनकी मदद से अतिक्रमण किया गया था, फिर आवेदक को सलाह दें क्योंकि अपराधियों ने संबंधित पुलिस के संरक्षण में आवेदक की निजी सड़क पर कब्जा कर लिया है मुख्यमंत्री कार्यालय के संबंधित अधिकारी द्वारा प्रस्तुत पुलिस रिपोर्ट की विश्वसनीयता के बारे में सोचें संबंधित पुलिस कर्मचारियों का यह अनिवार्य कर्तव्य था कि वे उप निरीक्षक कमला दयाल द्वारा किए गए निर्माण कार्य को तुरंत रोकें होते और फिर उन्हें सुझाव देना था कि यदि वह आवेदक की सड़क को सुधारने के लिए इच्छुक है , उन्हे आवेदक की अनुमति लेनी थी या उन्हें राजस्व विभाग का आश्रय लेना था अपनी अधिकारिता सिद्ध करने के लिए Now it is the duty of the police to demolish the constructed wall and vacate the disputed site from the submersible pumps and other objectionable mater अब पुलिस का कर्तव्य बनता है कि निर्मित दीवार को गिराकर विवादित स्थल को पुलिस के साथ साठ गाठ कर के स्थापित किए गए सबमर्सिबल पंप व अन्य आपत्तिजनक सामग्री से बिबादित स्थल को सम्बंधित पुलिस खाली कराएं
Officer Concerns To
Officer Name
Shri Bhaskar Pandey (Joint Secretary)
Organisation name
Government of Uttar Pradesh
Contact Address
Chief Minister Secretariat , Room No. 321, U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
bhaskar.12214@gov.in
Contact Number
05222226350

3 Comments

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

  1. कृष्णा नगर पुलिस उस सड़क से अतिक्रमण हटा सकती है जिस पर अपराधियों द्वारा उनकी मदद से अतिक्रमण किया गया था, फिर आवेदक को सलाह दें क्योंकि अपराधियों ने संबंधित पुलिस के संरक्षण में आवेदक की निजी सड़क पर कब्जा कर लिया है मुख्यमंत्री कार्यालय के संबंधित अधिकारी द्वारा प्रस्तुत पुलिस रिपोर्ट की विश्वसनीयता के बारे में सोचें संबंधित पुलिस कर्मचारियों का यह अनिवार्य कर्तव्य था कि वे उप निरीक्षक कमला दयाल द्वारा किए गए निर्माण कार्य को तुरंत रोकें होते और फिर उन्हें सुझाव देना था कि यदि वह आवेदक की सड़क को सुधारने के लिए इच्छुक है , उन्हे आवेदक की अनुमति लेनी थी या उन्हें राजस्व विभाग का आश्रय लेना था अपनी अधिकारिता सिद्ध करने के लिए

    ReplyDelete
  2. It was a private Road and it depends upon the applicant whether she will provide her private Road to the neighbours or not and neighbours have no right to repair the road or any construction on the road because this road specially belongs to the applicant and construction was done by the affenders by colluding with the Krishna Nagar police which reflects the Lawlessness and anarchy in the working of the police.

    ReplyDelete
  3. पुलिस की विश्वसनीयता इस उत्तर प्रदेश में बहुत ही खराब है इसको सुधारना चाहिए किंतु कोई सुधारने का प्रयास ही नहीं कर रहा है कोई भी रिपोर्ट विश्वसनीय होती ही नहीं पुलिस के और पुलिस कोई भी कार्य तभी करती है जब उसको घोष मिल जाए और यह खुलेआम चल रहा है किसी में बोलने की चाहत नहीं है इस भ्रष्टाचार के विरुद्ध क्योंकि सभी जानते हैं कि पुलिस चाय डंडा लगाकर जेल में बंद कर देगी

    ReplyDelete
Previous Post Next Post