Yogi

6/recent/ticker-posts

Archana Dubey submitted complaint against arbitrariness of Kotwal, City Kotwali Mirzapur for submitting arbitrary and inconsistent report

 





संदर्भ संख्या : 40019922019642 , दिनांक - 18 Aug 2022 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-40019922019642

आवेदक का नाम-Archana Dubeyविषय-Address of the victim-Ghode Saheed घोडे शहीद, Ghurhoo patti घुरहू पट्टी, Mirzapur city मिर्जापुर शहर, police station-Kotwali city थाना-कोतवाली शहर, PIN Code-231001 संदर्भ संख्या 40019922018952 , दिनांक - 13 Aug 2022 तक की स्थिति आवेदनकर्ता का विवरण शिकायत संख्या -40019922018952 आवेदक का नाम-Archana Dubeyसंदर्भ संख्या 40019922019135 , दिनांक - 13 Aug 2022 तक की स्थिति आवेदनकर्ता का विवरण शिकायत संख्या -40019922019135 आवेदक का नाम-Archana Dubey 

The aforementioned two applications made on the August portal of government of Uttar Pradesh i.e. Jansunwai portal disposed of by the inspector of Kotwali city without application of rational mind. Report submitted by the inspector of Kotwali city, District-Mirzapur is an arbitrary report, inconsistent with the submissions of the grievance ipso facto. For the more details, vide attached document to the grievance. Now I will focus inconsistency on the report submitted staff of police showing incompetence of the police personnel. My first submission is

1-Your applicant submitted representation before the Honourable Sir on 30 April 2022 against the offenders when they assaulted the applicant and her husband and it is most regrettable that no action was taken by the concerned staff still even after more than three months. 

आपके आवेदक ने माननीय महोदय के समक्ष 30 अप्रैल 2022 को अपराधियों के खिलाफ अभ्यावेदन प्रस्तुत किया जब उन्होंने आवेदक और उसके पति पर हमला किया और यह सबसे खेदजनक है कि संबंधित कर्मचारियों द्वारा तीन महीने से अधिक समय के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई What is your response? आपकी प्रतिक्रिया क्या है? 

Since you did not take any action in the matter therefore you avoided the submission and filled the report by ambiguous reporting.चूंकि आपने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की, इसलिए आपने रिपोर्ट प्रस्तुत करने से परहेज किया और अस्पष्ट रिपोर्टिंग द्वारा रिपोर्ट भर दी। Instead of submitting cluttered on the portal, you might adopt a logistic approach in the matter. पोर्टल पर कूड़ा करकट सबमिट करने के बजाय आप मामले में लॉजिस्टिक/तार्किक अप्रोच अपनाएं 

Everyone knows that proceedings under Section 107/116. of the Cr. P.C. are only preventive measures and not pure criminal proceedings, but such proceedings are of quasi judicial nature. Whoever seek redressal of their grievances by submitting online applications on the Jansunwai portal of the government of Uttar Pradesh, concerned sub-inspector fabricate them under Section 107/116. of the Cr. P.C in most of the cases. YOU have already misused this tool six times on my husband instead of ensuring the compliance of agreements made between parties.

विभाग -पुलिसशिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-25-08-2022शिकायत की स्थिति-

स्तर -थाना स्तरपद -थानाध्‍यक्ष/प्रभारी नि‍रीक्षक

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक को फीडबैक:-

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अग्रसारित विवरण :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी अग्रसारित/आपत्ति दिनांक नियत दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश स्थिति

1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 18-08-2022 25-08-2022 थानाध्‍यक्ष/प्रभारी नि‍रीक्षक-कोतवाली सिटी,जनपद-मिर्ज़ापुर,पुलिस अनमार्क

संदर्भ संख्या : 40019922019644 , दिनांक - 18 Aug 2022 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण :

शिकायत संख्या:-40019922019644

आवेदक का नाम-Archana Dubeyविषय-Address of the victim-Ghode Saheed घोडे शहीद, Ghurhoo patti घुरहू पट्टी, Mirzapur city मिर्जापुर शहर, police station-Kotwali city थाना-कोतवाली शहर, PIN Code-231001 संदर्भ संख्या 40019922018952 , दिनांक - 13 Aug 2022 तक की स्थिति आवेदनकर्ता का विवरण शिकायत संख्या -40019922018952 आवेदक का नाम-Archana Dubeyसंदर्भ संख्या 40019922019135 , दिनांक - 13 Aug 2022 तक की स्थिति आवेदनकर्ता का विवरण शिकायत संख्या -40019922019135 आवेदक का नाम-Archana DubeyThe aforementioned two applications made on the August portal of government of Uttar Pradesh i.e. Jansunwai portal disposed of by the inspector of Kotwali city without application of rational mind. Report submitted by the inspector of Kotwali city, District-Mirzapur is an arbitrary report, inconsistent with the submissions of the grievance ipso facto. For the more details, vide attached document to the grievance. Now I will focus inconsistency on the report submitted staff of police showing incompetence of the police personnel. My first submission is1-Your applicant submitted representation before the Honourable Sir on 30 April 2022 against the offenders when they assaulted the applicant and her husband and it is most regrettable that no action was taken by the concerned staff still even after more than three months. आपके आवेदक ने माननीय महोदय के समक्ष 30 अप्रैल 2022 को अपराधियों के खिलाफ अभ्यावेदन प्रस्तुत किया जब उन्होंने आवेदक और उसके पति पर हमला किया और यह सबसे खेदजनक है कि संबंधित कर्मचारियों द्वारा तीन महीने से अधिक समय के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई What is your response? आपकी प्रतिक्रिया क्या है? Since you did not take any action in the matter therefore you avoided the submission and filled the report by ambiguous reporting.चूंकि आपने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की, इसलिए आपने रिपोर्ट प्रस्तुत करने से परहेज किया और अस्पष्ट रिपोर्टिंग द्वारा रिपोर्ट भर दी। Instead of submitting cluttered on the portal, you might adopt a logistic approach in the matter. पोर्टल पर कूड़ा करकट सबमिट करने के बजाय आप मामले में लॉजिस्टिकतार्किक अप्रोच अपनाएंEveryone knows that proceedings under Section 107116. of the Cr. P.C. are only preventive measures and not pure criminal proceedings, but such proceedings are of quasi judicial nature.Whoever seek redressal of their grievances by submitting online applications on the Jansunwai portal of the government of Uttar Pradesh, concerned sub-inspector fabricate them under Section 107116. of the Cr. P.C in most of the cases. YOU have already misused this tool six times on my husband instead of ensuring the compliance of agreements made between parties.

विभाग -पुलिसशिकायत श्रेणी -

नियोजित तारीख-17-09-2022शिकायत की स्थिति-

स्तर -क्षेत्राधिकारी स्तरपद -क्षेत्राधिकारी / सहायक पुलिस आयुक्त

प्राप्त रिमाइंडर-

प्राप्त फीडबैक -दिनांक को फीडबैक:-

फीडबैक की स्थिति -

संलग्नक देखें -Click here

नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अग्रसारित विवरण :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी अग्रसारित/आपत्ति दिनांक नियत दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश स्थिति

1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 18-08-2022 17-09-2022 क्षेत्राधिकारी / सहायक पुलिस आयुक्त-क्षेत्राधिकारी , नगर ,जनपद-मिर्ज़ापुर,पुलिस अनमार्क