Contrary, inconsistent and arbitrary reports have been integral part of practice of State Bank of India and Modi government is desperate

 



Grievance Status for registration number : DEABD/E/2022/46134

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Yogi M. P. Singh
Date of Receipt
22/06/2022
Received By Ministry/Department
Financial Services (Banking Division)
Grievance Description
Financial Services (Banking Division) >> Fraud

Department/Bank/Financial Institute : State Bank of India
-----------------------
शाखा प्रबंधक सिटी शाखा भारतीय स्टेट बैंक ने अपने जवाब में इस प्रकार बताया। हमने ग्राहक को कार्ड सक्रियण प्रक्रिया के बारे में सूचित कर दिया है क्योंकि ग्राहक के पास रखा गया कार्ड निष्क्रिय है सक्रियण प्रक्रिया के बाद डेबिट कार्ड से संबंधित सभी सेवाएं फिर से शुरू हो जाएंगी। मैं भारतीय स्टेट बैंक के जवाबदेह कर्मचारियों का ध्यान आवेदक के इंटरनेट बैंकिंग से लिए गए स्क्रीन शॉट की ओर आकर्षित करना चाहता हूं जो स्पष्ट रूप से दिखा रहा है कि आवेदक को जारी किया गया एटीएम कार्ड सक्रिय है, इसलिए सक्रियण की प्रक्रिया आरंभ करने की कोई आवश्यकता नहीं है  क्योंकि सक्रियण की प्रक्रिया पहले से ही आवेदक द्वारा की जा चुकी है और भारतीय स्टेट बैंक जिला मिर्जापुर की शाखा प्रबंधक शहर शाखा केवल आवेदक को ही नहीं बल्कि भारतीय स्टेट बैंक के वरिष्ठ रैंक के अधिकारियों को गुमराह कर रही है। स्थिति की गंभीरता के बारे में सोचें कि स्टेट बैंक की पूरी ग्राहक सेवा कह रही है कि एटीएम कार्ड सक्रिय है और सक्रिय दिख रहा है लेकिन शाखा प्रबंधक कह रहा है कि एटीएम कार्ड निष्क्रिय है और शिकायतों का मनमाने ढंग से निवारण कर रहा है जो कि मूल कारण है आवेदक की ओर से कई शिकायतें की जा रही हैं। भारतीय स्टेट बैंक जिला मिर्जापुर की नगर शाखा के शाखा प्रबंधक की अक्षमता के कारण एक ही विषय पर कई शिकायतें प्रस्तुत की जा रही हैंश्री मान आज भारतीय स्टेट बैंक दुर्व्यवस्था और अक्षमता का शिकार है क्योकि स्टाफ के रूप में अधिकतर महिलाए है जो कार्यालय सम्बन्धी कार्य में कोई रूचि नहीं दिखाती अर्थात जब कार्य नहीं करना है तो घर बैठे सोचिये जो बाहर नोट है व्यथा निवारण का वह  इस प्रकार है From SBI LHO BHUBNESWAR on 21/06/2022 approved Report remarks The OTP for the said transaction appears to be shared as per the log report. The details of SMS log report sent to customer. Thus it appears that the credential was shared with the 3rd party, which comes under customer negligence for which the Bank is not liable. Hence the complaint may be treated as dealt with and closed.
The details of SMS log report sent to customer. श्री मान यह रिपोर्ट आपने कस्टमर को कब भेजी अरे कुछ तो साख बचाओ  
जब की शाखा प्रबंधक की रिपोर्ट है We have informed customer re
Grievance Document
Current Status
Grievance received   
Date of Action
22/06/2022
Officer Concerns To
Forwarded to
Financial Services (Banking Division)
Officer Name
SHRI PANKAJ SHARMA (JOINT SECRETARY)
Organisation name
Financial Services (Banking Division)
Contact Address
Room No.44, 3rd Floor,Jeevan Deep Building Building, Sansad Marg New Delhi
Email Address
sobo3-dfs@nic.in
Contact Number
01123346785
Reminder(s) / Clarification(s)
Reminder Date
Remarks
22/06/2022
जब की शाखा प्रबंधक की रिपोर्ट है
We have informed customer regarding the card activation process as the card held with the customer is inactive after the activation process all the services related to the debit card will resume.
श्री मान जी इस समय भारतीय स्टेट बैंक में भ्रष्टाचार अपनी समस्त सीमाओं का अतिक्रमण कर चुका है
श्री मान जी इंटरनेट बैंकिंग का ओ टी पी आता है श्री मान जी ब्रांच मैनेजर ने मुझसे कहा ग्लोबल कार्ड ज्यादा सिक्योर है मास्टर कार्ड की तुलना में अब मै समझा ग्लोबल कार्ड में मैनीपुलेशन ज्यादा संभव है पांच वर्ष से मास्टर कार्ड यूज़ किया उसमे यह परेशानी नहीं आयी अरे कम से कम भ्र्ष्टाचार कम करों
Branch manager City branch State Bank of India stated in its reply as follows.
We have informed customer regarding the card activation process as the card held with the customer is inactive after the activation process all the services related to the debit card will resume.
I want to draw the kind attention of the accountable staff of the State Bank of India to the screen shot taken from the internet banking of the applicant which is categorically showing that ATM card issued to the applicant is active so there is no need to initiate the process of activation because process of activation has been already carried out by the applicant and the branch manager city branch of the State Bank of India district Mirzapur only misleading the not only applicant but the senior rank officers of the State Bank of India.
Think about the gravity of the situation that the entire customer care of the State Bank is saying that the ATM card is activated and showing active but the branch manager is saying that the ATM card is inactive and redressing the grievances arbitrarily which is the root cause of numerous grievances are being submitted by the applicant. Multiple grivances on the same subject is being submitted because of the incompetence of the branch manager of the city branch of the State Bank of India district Mirzapur
Yogi

An anti-corruption crusader. Motive to build a strong society based on the principle of universal brotherhood.

Previous Post Next Post