google-site-verification: google652ee2e18330a276.html Yogi as anti-corruption crusader: L.D.A. must seek documents from Dinesh Pratap Singh as custodian of documents and may ensure compliance of H.C. order

Sunday, 28 March 2021

L.D.A. must seek documents from Dinesh Pratap Singh as custodian of documents and may ensure compliance of H.C. order

 








Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2021/17794

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Yogi M P Singh
Date of Receipt
28/03/2021
Received By Ministry/Department
Uttar Pradesh
Grievance Description
Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2021/09185
Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M P Singh
Date of Receipt 21/02/2021 Received By Ministry/Department Uttar Pradesh
Grievance Description-An application under Article 51 A of the constitution of India. संदर्भ संख्या : 60000210010604 , दिनांक – 13 Feb 2021 तक की स्थिति
आवेदनकर्ता का विवरण : शिकायत संख्या:-60000210010604 आवेदक का नाम- Yogi M P Singh
सचिव लखनऊ विकास प्राधिकरण ने अपने पत्र दिनांक २५/०३/२०२१ द्वारा जो की संयुक्त सचिव अरुण कुमार दुबे को सम्बोधित है पुनः वांछित अभिलेख की बात कर रहे है क्योकि विवाद से सम्बंधित कोई भी दस्तावेज न तो लखनऊ विकास प्राधिकरण के कार्यालय में है और न हीं पांचो भू खंड स्वामियों के पास है क्यों की वे अपने भूखंड का विक्रय के उपरांत समस्त मूल दस्तावेज दिनेश प्रताप सिंह को सौप दिए है
उपरोक्त द्वारा प्रार्थी से समस्त साक्ष्य और हलफनामा के साथ उपस्थित होने के लिए अनुरोध किया गया है श्री मान जी प्रार्थी द्वारा समस्त अभिलेख दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह द्वारा उपलब्ध किये गए अभिलेखों की स्कैन कॉपी उपलब्ध कराई गई है और रंगीन स्कैन्ड कॉपी किसी भी मूल दस्तावेज की ऑथेंटिक प्रति होता है श्री मान जी प्रार्थी द्वारा उपलब्ध कराये गए दस्तावेजों के दो ही संरक्षक है १- खुद लखनऊ विकास प्राधिकरण जो सरकार का प्रतिनिधि है और विक्रेता है और २-क्रेता अर्थात आराधना सिंह उर्फ अनुराधा सिंह उर्फ गुड्डी सम्बंधित पांच भूखंडो की स्वामिनी जिनके पती का नाम बाबू सिंह है श्री मान जी आराधना सिंह उर्फ अनुराधा सिंह उर्फ गुड्डी के पास कोई दस्तावेज नहीं है मूल रूप में क्यों की समस्त दस्तावेज तीसरे क्रेता को अर्थात दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह को मूल रूप में उपलब्ध करा दिया गया है श्री मान जी लखनऊ विकास प्राधिकरण के पास कोई दस्तावेज नहीं है मूल रूप में क्यों की समस्त दस्तावेज इसलिए गायब कर दिए गए क्योकि संपत्ति रजिस्ट्री का कार्य कूट रचित दस्तावेज से सम्पादित करना था और माननीय उच्च न्यायालय के आदेश को जिसमे मालिकाना हक़ निश्चित करना था उसको नजरअंदाज करने की एक बड़ी साजिश थी श्री मान जी रही प्रार्थी को मूल दस्तावेज उपलब्ध कराने की तो दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह द्वारा पिछले बीसो सालो से उन्हें मूल दस्तावेज उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है जिनकी पुष्टि खुद लखनऊ विकास प्राधिकरण के दस्तावेज करते है श्री मान जी आपका आदेश हो तो दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह द्वारा समस्त दस्तावेज आप की सेवा में पुनः प्रस्तुत किया जाय और आप माननीय उच्च न्यायालय के आदेश के क्रम में समस्त दस्तावेजों का परिशीलन करे साथ ही अनियमितताओं को भी जांच ले महोदय प्रार्थी द्वारा आप के समक्ष उन दस्तावेजों को प्रस्तुत करना जो की प्रार्थी के अभिरक्षा में नहीं है कैसे न्याय संगत हो सकता है जहा तक अनियमितता के सम्बन्ध में कार्यवाही का सम्बन्ध है वह कार्यवाही तो मूल दस्तावेजों के स्कैन कॉपी के आधार पर ही गतिशील है चूकि इस गंभीर अनियमितता में तत्कालीन कर्मचारी जांच की परिध में आ सकते है इसलिए आप जांच को दूसरा मोड़ देने का प्रयास कर रहे है आप से अपेक्षा है की आप मूल दस्तावेज दिनेश प्रताप सिंह पुत्र श्री अंगद प्रसाद सिंह तलब करे और संपत्ति मालिकाना हक़ निश्चित करे तथा उच्च न्यायालय का समादर सुनिश्चित करे और मामले का पटाक्षेप करे प्रार्थी से बार बार दस्तावेजों की मांग करना जिसका संरक्षक प्रार्थी नहीं है अबैध है आप प्रार्थी को कानून विरुद्ध कार्य करने के लिए बार बार दबाव न डाले क्योकि यह कृति भारतीय दंड विधान में अपराध की कोटि में आता है उसके लिए आप खुद उत्तरदायी होंगे
Grievance Document
Current Status
Grievance received
Date of Action
28/03/2021
Officer Concerns To
Forwarded to
Uttar Pradesh
Officer Name
Shri Bhaskar Pandey
Officer Designation
Joint Secretary
Contact Address
Chief Minister Secretariat Room No.321 U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
bhaskarpandey2214@gmail.com
Contact Number
2226350

Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2021/09185

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Yogi M P Singh
Date of Receipt
21/02/2021
Received By Ministry/Department
Uttar Pradesh
Grievance Description
An application under Article 51 A of the constitution of India.
संदर्भ संख्या : 60000210010604 , दिनांक – 13 Feb 2021 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण : शिकायत संख्या:-60000210010604

आवेदक का नाम- Yogi M P Singh
In the aforementioned matter, an arbitrary report submitted by the public authority Lucknow Development Authority even when the matter concerns the deep rooted corruption.
Detail attached to grievance to take appropriate action in the matter as requires under the law.
If necessary contact me on my my mobile number-7379105911. Please adopt cogent approach in the matter.
प्रकरण का सम्बन्ध उ0प्र0 सरकार से नहीं है महोदय यह शब्द और वाक्य यह बता रहे है की उत्तर प्रदेश में कानून का राज्य नहीं है क्यों की हर नौकरशाह अपने आप की नौकर तो समझता ही नहीं है अरे आप जनता के सेवक है और सेवा के धर्म को समझिये मनमाना करने से कुछ भी हासिल नहीं The matter concerns the deep rooted corruption and joint secretary in the office of Yogi Adityanath disposing of grievance so negligently.
सोचिये एक गरीब आदमी पांच प्लाट खरीद कर एक मकान बनाएगा जो की पूर्ण रूप से अबैध और अप्राकृतिक है किन्तु लखनऊ विकास प्राधिकरण में व्याप्त भ्रस्टाचार से ऐसा संभव हो रहा है प्रार्धना पत्र के साथ लखनऊ विकास प्राधिकरण के तीन इकरार नामा लगे है जो बाबू सिंह उसकी पत्नी आराधना उर्फ गुड्डी और कनिष्क कुमार सिंह के है जिसको उपरोक्त प्राधिकरण के कर्मचारी शीतला पाल सिंह सहायक नगर अधिकारी द्वारा सम्पादित किया गया है
Whether there is honesty in the government of Uttar Pradesh?
Undoubtedly it reflects the rampant corruption in the government machinery. Most surprising is that office of the chief minister of the Government of Uttar Pradesh is also acting in the support of this act of corruption.
Everyone knows that Lucknow development authority is a bastion of corrupt people which is the root cause time and again enquiry was carried out by the governments of Uttar Pradesh by various parties only to share the black income earned by them.
Grievance Document
Current Status
Case closed
Date of Action
25/03/2021
Remarks
PLEASE SEE THE ATTACHMENT.
Reply Document
Rating
Poor
Rating Remarks
L.D.A. sent the first communication on 26/09/2019 bearing letter number-206/OSD-R/2019 as information. They informed as concerned documents they have summoned. They are waiting for documents. L.D.A. sent the second communication on 24/10/2019 bearing letter number-302/OSD-R/2019 as information. They informed as concerned documents they have summoned. They are waiting for documents. L.D.A. sent the third communication on 06/02/2020 bearing letter number-516/OSD-R/2020 as information. They informed as concerned documents they have summoned. They are waiting for documents. L.D.A. sent the fourth communication on 29/09/2020 bearing letter number-791/OSD-R/2020 as information. They made same parrot reply as aforementioned. L.D.A. sent the fifth communication on 31/10/2020 bearing letter number-857/OSD-R/2020 as information. Now the special officer of Lucknow Development Authority is saying that he is taking action subsequently he will inform about the action taken to the applicant.
Officer Concerns To
Officer Name
Shri Bhaskar Pandey
Officer Designation
Joint Secretary
Contact Address
Chief Minister Secretariat Room No.321 U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
bhaskarpandey2214@gmail.com
Contact Number
2226350

4 comments:

  1. श्री मान जी लखनऊ विकास प्राधिकरण के पास कोई दस्तावेज नहीं है मूल रूप में क्यों की समस्त दस्तावेज इसलिए गायब कर दिए गए क्योकि संपत्ति रजिस्ट्री का कार्य कूट रचित दस्तावेज से सम्पादित करना था और माननीय उच्च न्यायालय के आदेश को जिसमे मालिकाना हक़ निश्चित करना था उसको नजरअंदाज करने की एक बड़ी साजिश थी

    ReplyDelete
  2. This matter is pending before the the government of Uttar Pradesh for more than 2 years and concerned with the the deep rooted corruption and it is too much unfortunate that Lucknow Development Authority is not taking action against the wrongdoer staff who caused huge loss to the public exchequer by allocating the government plots arbitrarily without the application of mind and floating all the setup norms set up by the government of India specially government of Uttar Pradesh.

    ReplyDelete
  3. It is confirmed that whatever report has been submitted by the Lucknow development authority is inconsistent and arbitrary and this report reflects the rampant corruption in the working of the public authority Lucknow development authority. They are seeking the documents of the government plots from Yogi MP Singh who is is not the party in purchasing the land are in any way if he has made the allegations of irregularity then he had given evidence in support of allegations and they are acting on the ground of those supporting evidences.

    ReplyDelete
  4. Instead of taking solid and strong action, for more than 2 years they are running away from this serious issue of corruption in the public authority Lucknow development authority . Undoubtedly such practices must be curbed in this largest democracy in the world because our main foe is the corruption and this corruption must be curbed at any cost

    ReplyDelete

Whatever comments you make, it is your responsibility to use facts. You may not make unwanted imputations against any body which may be baseless otherwise commentator itself will be responsible for the derogatory remarks made against any body proved to be false at any appropriate forum.

B.S.N.L. is charging for services but not providing services and our political masters have been teeth less because of corruption

  Grievance Status for registration number : DOTEL/E/2021/16713 Grievance Concerns To Name Of Complainant Yogi M P Singh Date of Receipt 28/...